IPS अमिताभ ठाकुर मामले में सपा प्रमुख मुलायम के खिलाफ दर्ज हुई FIR

0

आईपीएस अधिकारी को फोन पर धमकाए जाने के मामले में समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख मुलायम सिंह यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। यह सूचना मिलने के बाद उत्तर प्रदेश के निलंबित आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने अपना धरना खत्म कर दिया।

ठाकुर के मुताबिक, उन्हें हालांकि एफआईआर की कॉपी अभी नहीं मिली है। इसकी शिकायत उन्होंने पुलिस महानिदेशक जगमोहन यादव से भी की है। उन्होंने बताया कि मुलायम सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने की सूचना मुझे अदालत के माध्यम से मिली है। हजरतगंज पुलिस ने अदालत को बताया कि आदेश के मुताबिक मुलायम सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

Also Read:  मुलायम का दांव: अखिलेश और रामगोपाल निष्कासन, आज बैठक के बाद समीकरण होंगे साफ

निलंबित आईपीएस अधिकारी ने 10 जुलाई को सपा मुखिया मुलायम द्वारा उन्हें फोन पर धमकाए जाने की शिकायत की थी। इसके दो दिन बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया था। अमिताभ की याचिका पर मुख्य दंडाधिकारी (सीजीऐम) सोम प्रभा मिश्रा ने 14 सितंबर को समुचित धाराओं में मुलायम के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने के आदेश दिए थे।

Also Read:  अखिलेश बोले- 'BJP वाले तो हमें हिंदू ही नहीं समझते, अब तो मंदिर जाऊं तो पहले फोटो ट्वीट कर दूं'

ठाकुर ने बताया, “हजरतगंज पुलिस ने अदालत को मुलायम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिए जाने की सूचना दी है। इसके बाद मैंने पुलिस से एफआईआर की कॉपी मांगी, लेकिन पुलिस ने देने से इनकार कर दिया। इसके बाद मैं पुलिस महानिदेशक से मिला और उनसे एफआईआर की कॉपी मुहैया कराने की मांग की है।”

इस बीच, हजरतगंज कोतवाली के एक अधिकारी ने स्वीकार किया कि कोर्ट के आदेश पर मुलायम सिंह यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

लखनऊ पुलिस ने एक महीने तक अदालत के आदेश का पालन नहीं किया था, इससे खफा होकर ठाकुर गुरुवार को निश्चितकालीन धरने पर बैठ गए थे।

Also Read:  MCD चुनाव: BJP के एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को लोगों ने नहीं किया पसंद, सभी उम्मीदवार हारे

ठाकुर ने कहा कि उप्र सरकार ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश डी.वाई. चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति एस.एन. शुक्ला की पीठ को आश्वस्त किया था कि 30 सितंबर तक अवश्य एफआईआर दर्ज कराई जाएगी, लेकिन समय सीमा खत्म होने के बाद भी जब एफआईआर दर्ज नहीं हुई, तब ठाकुर ने अनिश्चितकालीन धरना देने का फैसला किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here