अमिताभ बच्चन के बाद अब गोविंदा भी बनेंगे किसान

0

अमिताभ बच्चन के बाद अब  गोविंदा भी किसान| गोविंदा ने लखनऊ के मोहनलालगंज के रानीखेडा गांव मे 11 बिस्वा यानि करीब 15 हजार स्क्वायर फिट जमीन ख़रीदी है|  जमीन का सौदा उन्होने तय कर दिया है लेकिन रजिस्ट्री अभी नही हुई है गोविंदा के जमीन लेने की खबर से रानीखेडा और आसपास के गांव के लोग बेहद उत्साहित है क्योकि अब सबको ये लगने लगा है फिल्मी पर्दे पर चमकने वाले गोविंदा उनके पडोसी हो जायेगे और उनके गांव का विकास तेज़ी से होगा।
लखनऊ के मोहनलालगंज का रानीखेडा गांव की जमीन अब फिल्म स्टार गोविंदा की होने जा रही है..यह गांव लखनऊ से करीब 25 किलोमीटर दूर लखनऊ रायबरेली मार्ग पर स्थित है और ग्रामीण इलाका है लिहाजा इस जमीन को खरीदने के बाद गोविंदा अब लखनऊ के किसान हो जायेगे| हालाकि गोविंदा ने इस जमीन की अभी रजिस्ट्री नही करवाई है लेकिन बताया जा रहा है कि अगले महीने वह किसी भी दिन जमीन की रजिस्ट्री कराकर तहसील के दस्तावेजो के मुताबिक जमीन के मालिक बन जायेगे| गोविंदा बुधवार को शाम  पांच बजे लखनऊ पहुचे, जमीन का सौदा करवाने वाले स्थानीय व्यापारी गोविंदा को एयरपोर्ट से लेकर सीधे रानीखेडा गाँव पहुचें| लखनऊ मे गोविंदा ने तीन जगहों पर जमीने देखी थी| रानीखेडा के अलावा पास ही मे एक निजी इस्टीट्यूट के सामने और लखनऊ बाराबकी हाईवे पर देवा रोड पर भी उन्होने जमीने देखी। लेकिन इन्हे रानीखेडा की ये जमीन पंसद आ गई और उन्होने इसका सौदा तय कर दिया।

Also Read:  नोटबंदी पूरी तरह फेल, लेकिन पीएम मोदी सजा के लिए चौराहा नहीं बता रहे हैं: लालू प्रसाद यादव

बताया जा रहा है कि यह जमीन लखनऊ के ही विवेक सिंह नाम के व्यक्ति की है..गोविदा कुल दो लोगो से करीब 11 बिस्वा यानि 15 हजार स्क्वायर फिट जमीन ले रहे है| जमीन की कीमत 500 रुपये स्कवायर फिट बताई जा रही है| हालांकि इस दौरान यहा के लोगो को पता ही नही था कि, गोविदा उनके गाव मे जमीन लेने आ रहे है| लेकिन शाम होते होते जैसे ही गोविदा अपने परिवार के साथ इस गाँव में पहुचें| तो पूरे गाँव मे मजमा लग गया, आस पडोस के गांव वाले भी आ गये, कुछ लोगो ने गोविदा से मुलाकात कर उन्हें हाथ से बनाई हुई उनकी पेंटिंग भी दी| गाँव के बच्चे सबसे ज्यादा खुश है उनका कहना है कि अब गोविदा उनके पडोसी हो गये है और गोविदा के आने से शासन प्रशासन का ध्यान भी गांव की तरफ केंद्रित हो जायेगा| जिससे गांव का विकास तेज होगा|

Also Read:  गतिरोध के दौर से गुजर रही सपा में सुलह-समझौते के फिलहाल कोई आसार नहीं

चूंकि यह गाव मोहनलालगंज मे आता है लिहाजा इस जमीन की रजिस्ट्री भी मोहनलालगंज की तहसील मे होनी है| गुरूवार को दिन भर तहसील मे गोविंदा के आने की चर्चा होती रही, कुछ लोग कह रहे थे कि गोविदा ने होटल में बुलाकर रजिस्ट्री करवा ली है तो कुछ लोग कह रहे थे कि, गोविंदा खुद तहसील आयेगे| लेकिन तहसील की रजिस्ट्रार ने बताया कि अभी तक उनके पास कोई सूचना नही आई है| तहसील के वकील भी गोविदा का इतंजार कर रहे थे, उनका कहना है कि अगर गोविदा रजिस्ट्री करवाने तहसील में नही आते तो निर्धारित शुल्क जमाकर के वह तहसील के स्टाफ को बुलाकर होटल मे भी रजिस्ट्री करवा सकते है| लेकिन अगर वह यहा आय़ेगे तो बेहतर होगा|

Also Read:  लखनऊ में सड़क किनारे IAS अधिकारी का संदिग्ध हालत में मिला शव, पुलिस जांच में जुटी

बहरहाल जो जमीन गोविदा खरीद रहे है वह खेती योग्य भूमि मे दर्ज है| लिहाजा गोविदा इस जमीन की रजिस्ट्री करवाने के बाद किसान बन जायेगे| फिलहाल मोहनलालगंज के हर बशिदें को इस बात का इतंजार है कि गोविदा जल्द से जल्द जमीन अपने नाम दर्ज करवा ले, ताकि वह राजस्व अभिलेखो मे लखनऊ के हो जाये इसे पहले अमिताभ बच्चन भी लखनऊ के काकोरी इलाके में जमीन खरीद चुके हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here