शिवसेना के मोदी विरोधी होर्डिंग्स मुंबई पुलिस ने हटाए

0

मुंबई पुलिस ने बुधवार को शिवसेना द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज़ करने वाले और शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे को महिमा मंडित करने वाले होर्डिंग्स हटा दिए हैं।

पुलिस ने शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच संघर्ष को रोकने के लिए इन होर्डिंग्स को हटाया है। महाराष्ट्र में दोनों दलों की गठबंधन सरकार है, लेकिन हाल ही में दोनों के संबधों में खटास आ गई है।

शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली और गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर ये होर्डिग्स लगाए गए थे ।

होर्डिंग्स में मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के दौरान की कुछ ऐसी तस्वीरें हैं, जिसमें वह बाल ठाकरे के सामने घुटने टेके हुए हैं।

Also Read:  It's sad as it shows your mentality: Esha Gupta on being trolled

तस्वीरों में भाजपा को पुराने दिनों की याद दिलाते हुए कहा गया है कि “भूल गए वो दिन जब मोदी बाला साहब के सामने सिर झुकाते थे?”

होर्डिंग्स में अन्य नेता या तो ठाकरे के सामने झुके हुए हैं, या फिर ठाकरे को गर्मजोशी के साथ बधाई दे रहे हैं। इसमें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और भाजपा के दिग्गज लालकृष्ण आडवाणी और राजनाथ सिंह भी शामिल हैं।

Also Read:  Muslim youths carry out last rites of Hindu man

इसके अलावा होर्डिंग्स में वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राकांपा प्रमुख शरद पवार और मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे भी हैं।

शिवसेना ने भाजपा की तुलना में हमेशा खुद को ‘बड़ा भाई’ माना है। शिव सेना ने वर्ष 1995-99 तक पहली गठबंधन सरकार का नेतृत्व किया था, जिसमें भाजपा एक कनिष्ठ सहयोगी के रूप में थी।

शिव सेना ने समय-समय पर भाजपा पर बैनर, पोस्टर या होर्डिग्स के जरिए हमले किए हैं, जिसके जवाब में भाजपा ने विभिन्न आयोजनों से अपने सहयोगी शिव सेना को दूर रखा हैं।

मोदी ने पिछले सप्ताह तीन प्रमुख अवसंरचनाओं का उद्घाटन किया, जिनके आयोजनों से शिव सेना को दूर रखा गया था।

Also Read:  (वीडियो) जब बालीवुड अभिनेता कुनाल खेमू बदतमीजी पर उतर आए

इसके बाद शिव सेना ने पाकिस्तानी गजल गायक गुलाम अली के मुंबई और पुणे में प्रस्तावित कार्यक्रम को रद्द करने के लिए मजबूर कर दिया। इसके साथ ही उसने भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट कंट्रोल बोर्डो के बीच बातचीत भी मुंबई में नहीं होने दी।

शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने हाल ही में एक पुस्तक विमोचन समारोह में वरिष्ठ पत्रकार और आडवाणी के पूर्व सहयोगी सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर स्याही पोत दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here