मध्य प्रदेश में किसान परेशान, 2 और ने की खुदकुशी

0
>

मध्य प्रदेश में अल्प वर्षा और सूखे के कारण फसल चौपट होने तथा कर्ज के बोझ के चलते किसानों द्वारा आत्महत्या तथा सदमे से मौतों का सिलसिला जारी है। बीते 24 घंटों के दौरान दो और किसानों ने आत्महत्या कर ली है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार को रायसेन जिले के सुलतानगंज थाना क्षेत्र के ग्राम डिलवार निवासी किसान रामप्रसाद (50 वर्ष) ने अपने खेत के पास लगे एक पेड़ से लटककर फांसी लगाकर जान दे दी।

Also Read:  "अरे निरालो, सैनिक के मरने को शहादत कहते हैं, मगर बैंक के बाहर लाईन मे लगकर मरने मे कौनसी गरिमा है?"

रामप्रसाद के परिजनों ने बताया कि सवा चार एकड़ क्षेत्र में सोयाबीन बोया था, जो फसल पूरी तरह चौपट हो गई। वहीं उस पर दो लाख का कर्ज था। इसी से परेशान होकर उसने यह कदम उठाया।

पुलिस का कहना है कि वह आत्महत्या के कारणों की जांच कर रही है।

Also Read:  J&K: सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, लश्कर का टॉप कमांडर अबु दुजाना मारा गया

दूसरी ओर गुना जिले के मधुसूदनगढ़ थाना क्षेत्र के गरखेड़ा के किसान नेपाल लोधी (30वर्ष) ने मंगलवार को जहरीला पदार्थ पी लिया और उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई।

गांव वालों ने बताया कि नेपाल ने 17 बीघा खेत में सोयाबीन की फसल बोई थी। मंगलवार को उसने फसल काटी तो महज चार बोरा ही फसल निकली। इससे वह परेशान हो गया और कीटनाशक पी लिया, उसे गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

Also Read:  शराबबंदी का मध्य प्रदेश में फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं: वित्त मंत्री जयंत मलैया

प्रशासन को बुधवार को किसान की आत्महत्या की जानकारी मिली और अमला मौके पर पहुंचा। गुना के नायब तहसीलदार कमल सिंह मंडेलिया ने आईएएनएस से कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत की वजह पता चल सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here