लातूर को दस लाख लीटर पानी और हम दिल्ली वाले गन्दी नालियों से पानी पीने को मजबूर

0

इरशाद अली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को उनके चापलूस विधायकोें और सहकर्मियों ने आडम्बर की ऐसी कुर्सी पर ले जाकर बैठा दिया है जहां से उन्हें अब आम आदमी दिखाई भी नहीं दे रहा। वो आम आदमियों से मिलकर ये भूल जाते है कि उन्होंने क्या-क्या वादे किए हैं। करावल नगर विधानसभा क्षेत्र से उनके विधायक और मंत्री कपिल मिश्रा ने पार्टी को खत्म करने की कवायदें शुरू कर दी है। जीतने के बाद से आजतक कपिल मिश्रा अपने निर्वाचन क्षेत्र के दौरे पर नहीं आए।

Exif_JPEG_420

वो नहीं जानते कि लोग कच्ची खजूरी में तिल-तिल कर मर रहे। कपिल मिश्रा श्रीनगर से छात्रों को भरकर जंतर-मंतर पर धरना दिला रहे है और कच्ची खजूरी क्षेत्र के लोग नालियों से पानी भरकर पीने को मजबूर हैं।

2 जनवरी को मैंने खुद मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से कच्ची खजूरी, ई ब्लाक, गली न. 4 में आठ महीने से पानी नहीं आने की समस्या के बारें में बताया था।

मुख्यमंत्री ने तुरन्त इस पर कारवाई दिखाते हुए विभव जी को बोला। बिभव जी ने तुरन्त किसी को बोला। लेकिन आजतक किसी ने कुछ नहीं किया। तब से अब तक मैं खुद कितनी ही बार बिभव जी को फोन कर चुका हूं जिसे वो कभी नहीं उठाते, खुद कपिल मिश्रा से मिलकर समस्या बताई जिसे उन्होंने हवा में उड़ा दिया और आगे बढ़ गए।

Exif_JPEG_420

तब मैंने कुमार विश्वास के घर के बाहर खड़े एक छोटे से पार्टी कार्यकर्ता को अपनी समस्या बताई तब उन्होंने वहां जई भेजकर पता लगाया कि गली न. 4 में पानी क्यों नहीं आ रहा तब वहां 65 फीट पाइप की जरूरत पड़ी जिसके लिये जल बोर्ड और विभाग के पास पैसे की कमी बताकर काम ना होने की वजह बताई। मैं आजतक चक्कर काट-काट थक चुका हूं। कई टिव्ट भी किए लेेकिन कपिल मिश्रा ने आज तक समस्या नहीं सुनी।

मुख्यमंत्री जी आपने खजूरी के रामलीला मैदान में खड़े होकर भाषण दिया था कि खजूरी को लोगों आपको एक पढ़ा लिखा नौजवान कपिल सौप रहा हूं हमारी सरकार आएगी तो खजूरी का नक्शा बदल जाएगा। आपका वो कपिल मिश्रा कभी कच्ची खजूरी आया ही नहीं। नालियों में गन्दगी बह रही है वहीं लोग घर के पीने का पानी भर रहे है। मैं खुद रोजाना ऐसे ही पानी भरता हूं।

कच्ची खजूरी में कहीं भी कोई चेंज नहीं है अगर कुछ है तो वो हर खम्बें पर बड़े-बड़े कपिल मिश्रा के बोर्ड लगे हैं। जिस पर झूठे वादे लिखे है। ये सभी बोर्ड वहां के उन समस्त चोरों ने लगाए है जो आपसे निकाय चुनावों के टिकट के तलबगार है। कभी कच्ची खजूरी आकर देखिए मुख्यमंत्री जी कि वहां लोग कैसे जी रहे है।

Exif_JPEG_420

आपकी सरकार के पास 65 फीट पाइप की मरम्मत के लिये पैसे नहीं हैं। आज मुझे दुख हो रहा है कि मैने आपको वोट दिया था।

यकीन नहीं होता की जो सरकार करोड़ों रूपये विज्ञापन पर खर्च कर देती है, उसके पास चंद फ़ीट की पाइप खरीदने को पैसा नहीं है।

केजरीवाल जी लातूर वालों को दस लाख लीटर पानी भेजने की पेशकश कर के आपने वकाई इंसानियत की बड़ी मिसाल पेश की थी, लेकिन खुद आपके जल मंत्री के चुनाव क्षेत्र में हम लोग गन्दी नालियों से पानी भरकर पीने को मजबूर हैं।

अरविन्द केजरीवाल जी, कुछ कीजिये और जल्द ही कीजिये क्योंकि जिस जनता के प्यार और स्नेह ने आपको ऐतिहासिक कामयाबी दी थी, वही जनता खुद को ठगा महसूस करने के बाद चुनाव में दूसरा नतीजा भी दे सकती है।

Views expressed here are author’s own and jantakareporter.com doesn’t subscribe to them

LEAVE A REPLY