अलगाववादी विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर श्रीनगर में प्रतिबंध

0

जम्मू एवं कश्मीर में पिछले दिनों एक ट्रक पर हुए पेट्रोल बम हमले में बुरी तरह घायल स्थानीय युवक की मौत के बाद अलगाववादियों ने शुक्रवार को विरोध-प्रदर्शन का आह्वान किया है, जिसके मद्देनजर श्रीनगर शहर और अनंतनाग जिले के कई हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया गया।

सैयद अली गिलानी, मीरवाइज, उमर फारूक, मुहम्मद यासीन मलिक और अन्य अलगाववादी नेताओं को विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने से रोकने के लिए नजरबंद रखा गया है।

Also Read:  7 मुस्लिम देशों से शरणार्थियों के अमेरिका आने पर डोनाल्‍ड ट्रम्‍प ने लगाया प्रतिबंध

गिलानी ने उधमपुर में 9 अक्टूबर को उपद्रवियों के पेट्रोल बम हमले में गंभीर रूप से घायल युवक की मौत को लेकर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन का आह्वान किया।

एक पुलिस अधिकारी ने आई.ए.एन.एस. को बताया, “आज (शुक्रवार) श्रीनगर शहर के रैनावाड़ी, खन्यार, नौहट्टा, एम.आर. गंज, सफाकादल और मैसूमा इलाकों में प्रतिबंध लगाए गए हैं।”

Also Read:  उत्तर प्रदेश: योगी सरकार के मंत्री ने अखिलेश की योजनाओं को बताया 'फिजूलखर्ची'

दक्षिणी कश्मीर के बिजबेहरा और अनंतनाग शहर में भी प्रतिबंध लगाए गए हैं।

बिजबेहरा में बुधवार को विरोध-प्रदर्शन के दौरान सुरक्षाबलों के साथ हुई झड़प में नसीर अहमद (25) नाम का युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था। आंसू गैस का एक गोला उसके माथे में लगा था।

Also Read:  3,000 more Kashmiri Pandits to get jobs

उसकी देखरेख में लगे चिकित्सकों ने यहां बताया, “उसकी हालत अब स्थिर है।”

वहीं, गुरुवार को अवंतीपुर कस्बे में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर स्थानीय टैंकर ड्राइवर जावेद अहमद पर एक भीड़ ने हमला किया था।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “उसके सिर में एक पत्थर आकर लगा था। चिकित्सकों ने उसकी हालत नाजुक बताई है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here