अलगाववादी विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर श्रीनगर में प्रतिबंध

0

जम्मू एवं कश्मीर में पिछले दिनों एक ट्रक पर हुए पेट्रोल बम हमले में बुरी तरह घायल स्थानीय युवक की मौत के बाद अलगाववादियों ने शुक्रवार को विरोध-प्रदर्शन का आह्वान किया है, जिसके मद्देनजर श्रीनगर शहर और अनंतनाग जिले के कई हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया गया।

सैयद अली गिलानी, मीरवाइज, उमर फारूक, मुहम्मद यासीन मलिक और अन्य अलगाववादी नेताओं को विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने से रोकने के लिए नजरबंद रखा गया है।

Also Read:  लोकसभा में उठी पैंगबर मोहम्मद के जन्मदिन पर सोमवार के अवकाश की मांग

गिलानी ने उधमपुर में 9 अक्टूबर को उपद्रवियों के पेट्रोल बम हमले में गंभीर रूप से घायल युवक की मौत को लेकर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन का आह्वान किया।

Congress advt 2

एक पुलिस अधिकारी ने आई.ए.एन.एस. को बताया, “आज (शुक्रवार) श्रीनगर शहर के रैनावाड़ी, खन्यार, नौहट्टा, एम.आर. गंज, सफाकादल और मैसूमा इलाकों में प्रतिबंध लगाए गए हैं।”

Also Read:  ‘PM मोदी अमेरिका में भारतीयों पर हुए नस्लीय हमलों पर खामोश क्यों हैं?’

दक्षिणी कश्मीर के बिजबेहरा और अनंतनाग शहर में भी प्रतिबंध लगाए गए हैं।

बिजबेहरा में बुधवार को विरोध-प्रदर्शन के दौरान सुरक्षाबलों के साथ हुई झड़प में नसीर अहमद (25) नाम का युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था। आंसू गैस का एक गोला उसके माथे में लगा था।

Also Read:  बैंको में स्याही के निशान से चुनाव आयोग चिंतित, वित्त मंत्रालय को लिखी चिट्ठी में कहा, नोटबंदी में ना करें इस्तेमाल

उसकी देखरेख में लगे चिकित्सकों ने यहां बताया, “उसकी हालत अब स्थिर है।”

वहीं, गुरुवार को अवंतीपुर कस्बे में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर स्थानीय टैंकर ड्राइवर जावेद अहमद पर एक भीड़ ने हमला किया था।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “उसके सिर में एक पत्थर आकर लगा था। चिकित्सकों ने उसकी हालत नाजुक बताई है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here