डीयू में छात्राओं की ‘पिंजरा तोड़’ मुहिम

0

दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्राओं ने ‘पिंजरा तोड़’ नाम की मुहिम शुरू की है । ‘पिंजरा तोड़’ दिल्ली विश्वविद्यालय के होस्टलो के सख्त नियम-कानून के विरुद्ध एक अभियान है ।

डीयू की सुभाषिनी श्रिया जो की इस अभियान की सह संस्थापक हैं उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी के नियम-कानून रूढ़िवादी तौर तरीके से बने हुऐं हैं जिनसे हम जैसी ‘परिपक्व लड़कियों’ के निजी अधिकारों पर पहरा डालने जैसा है ।

Also Read:  US man abuses Muslim driver, calls him 'Terrorist'

दिल्ली महिला कमीशन की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने भी इन लड़कियों के अभियान में इनका साथ देने का वादा किया है ।

मुहिम की शुरुआत की वजह जामिया यूनिवर्सिटी का लड़कियों के हॉस्टल में दिया गया नोटिस जिसमें छात्राओं के ‘नाइटआउट’ पर पाबंदी लगा दी गई थी । बाद में डीसीडब्लू के कारण बताओ नोटिस जारी करने के बाद इस पाबंदी लगाने वाली नोटिस पर रोक लगा दी गयी।

Also Read:  Praja Foundation gets BMC notice for 'misinterpreting' facts

इस मुहिम में स्त्रीवादी पूर्वाग्रही हैं जो की चाहती हैं कि सरकार महिलाओं के प्रति होने वाली घटनाओं पर रोक लगाएं न कि उनके अधिकारों पर ।
इस अभियान का नारा है- I am out tonight.

Also Read:  UP polls: 64% cast vote in 1st phase; demonetisation, anger over Jat reservation, polarisation to dampen BJP's prospects

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here