डीयू में छात्राओं की ‘पिंजरा तोड़’ मुहिम

0

दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्राओं ने ‘पिंजरा तोड़’ नाम की मुहिम शुरू की है । ‘पिंजरा तोड़’ दिल्ली विश्वविद्यालय के होस्टलो के सख्त नियम-कानून के विरुद्ध एक अभियान है ।

डीयू की सुभाषिनी श्रिया जो की इस अभियान की सह संस्थापक हैं उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी के नियम-कानून रूढ़िवादी तौर तरीके से बने हुऐं हैं जिनसे हम जैसी ‘परिपक्व लड़कियों’ के निजी अधिकारों पर पहरा डालने जैसा है ।

Also Read:  End hatemongering is Bihar's message to Modi, says NYT

दिल्ली महिला कमीशन की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने भी इन लड़कियों के अभियान में इनका साथ देने का वादा किया है ।

मुहिम की शुरुआत की वजह जामिया यूनिवर्सिटी का लड़कियों के हॉस्टल में दिया गया नोटिस जिसमें छात्राओं के ‘नाइटआउट’ पर पाबंदी लगा दी गई थी । बाद में डीसीडब्लू के कारण बताओ नोटिस जारी करने के बाद इस पाबंदी लगाने वाली नोटिस पर रोक लगा दी गयी।

Also Read:  "Modi ji personally makes telephone calls to victimize inconvenient officers. Modiji too small in his thinking"

इस मुहिम में स्त्रीवादी पूर्वाग्रही हैं जो की चाहती हैं कि सरकार महिलाओं के प्रति होने वाली घटनाओं पर रोक लगाएं न कि उनके अधिकारों पर ।
इस अभियान का नारा है- I am out tonight.

Also Read:  Mohan Bhagwat should father 10 children and Modi govt in Ambani's pockets: Kejriwal

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here