दिल्ली पुलिस की बर्बरता: बेर्शम पुलिस नजीब को तो नही ढूंढ सकी लेकिन बूढ़ी मां को घसीटा, वीडियो हुआ वायरल

0

पिछले 23 दिन से लापता जेएनयू के छात्र नजीब अहमद को दिल्ली पुलिस सिर्फ खोजने का नाटक कर रही है। और आज जब जेएनयू के छात्रों के साथ नजीब की मां इंडिया गेट पर प्रोटेस्ट करने गई तो दिल्ली पुलिस ने उन्हें सड़क तक घसीटा जो कि दिल्ली पुलिस का एक शर्मनाक चेहरा दिखाता है।

दिल्ली पुलिस की टीम वहां पहुंची और नजीब की मां को जबरदस्ती घसीटने लगी। जेएनयू छात्रों का कहना है कि हम लोग शांति से प्रदर्शन कर रहे थे।

दिल्ली पुलिस

युनिवर्सिटी प्रशासन ने आज तक उन 12 लडकों को नोटिस तक नहीं दिया जिन पर नजीब की पिटाई का आरोप है। ये सरकार का फर्ज है कि वो न्याय दिलाए उस मां को जिसका बच्चा 23 दिनों से लापता है।

महोबा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि वो मुस्लिम महिलाओं के लिए बहुत चिंतित हैं तो कहा गई मोदी जी की उस मां के लिए चिंता जिसके बेटे का कुछ पता नहीं हैं।

पिछले 23 दिनों से एक मां अपने बेटे की गुमशुदगी के लिए सरकार से इंसाफ मांगते मांगते थक गई है। एक मां के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे है लेकिन सरकार गंभीर नहीं है जो गुडें है वो अभी तक आज़ाद घूम रहे है ना ही उनपर कोई कार्रवाई हुई है जो सिस्टम का पूरा हाल बयान करता है।

सब से इंसाफ मांगने के बाद नजीब की मां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिली केजरीवाल ने उन्हें आश्वस्त किया दिल्ली सरकार नजीब को ढूंढने में हर तरह की मदद देगी। केजरीवाल ने नजीब की मां फातिमा नफीस से कहा, “मैं आपके साथ हूं और उसे ढूंढने के लिए हर संभव सहायता करूंगा।

बुधवार को जब  नजीब के लिए देश की जानी-मानी सियासी हस्तियां गुरुवार की शाम प्रशासनिक भवन पर इकट्ठा थीं। तब यहां शशि थरूर अपनी बात रख रहे थे, तभी एक चीख सुनाई दी।

यह चीख नजीब की मांग की थी। ख़ुद को संभाल पाने में नाकाम नजीब की मां अचानक दहाड़े मार कर रोने लगीं। रोते हुए वो चिल्ला रही थीं, ‘अरे कोई तो मेरे बेटे को वापस ले आओ। कहां है मेरा नजीब।’

भाषण दे रहे थरूर कुछ देर तक सिर झुकाए चुपचाप खड़े रहे।जेएनयू के कई छात्र और टीचर नजीब की मां को रोता देख ख़ुद को नहीं रोक पाए। सभी की आंखों में आंसू थे। कविता कृष्णन ने नजीब की मां को ढांढस बंधाने की कोशिश की लेकिन कुछ काम नहीं आया, वह रोती रहीं।वहां जमा भीड़ ठंडी पड़ गई थी।

एक मां के साथ किए गए इस तरह के सुलुक का सोशल मीडिया पर मोदी सरकार की जमकर आलोचना हो रही है।

https://twitter.com/jimmy9_girl/status/795221049012940800

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here