सीट बंटवारे पर राम विलास पासवान NDA के फैसले से खुश नहीं

0

बिहार चुनाव में सीट बंटवारे पर एक तरफ भाजपा और उसके सहयोगी दल जश्न मनाने के लिए एक दूसरे को मिठाई खिला रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ चिराग पासवान ने घोषणा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी को भाजपा के इस फैसले से बहुत बड़ा झटका लगा है।

भाजपा ने बिहार में अगले महीने से शुरू हो रहे चुनाव के लिए सोमवार की शाम सीट बंटवारे का एलान किया था। जिसमें बिहार विधानसभा की कुल 223 सीटों में से बीजेपी 160 सीटों पर, रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी 40 सीटों पर, उपेंद्र कुशवाहा की RLSP 23 सीटों पर और जीतन राम मांझी 20 सीटों पर HAM चुनाव लडेंगी।

इस एलान को अभी 24 घंटे भी नहीं हुए हैं और अब NDA के एक सहयोगी दल ने यह कह कर कि वह इस फैसले से खुश नहीं है सबको चौंका दिया है।

माना जा रहा है कि LJP प्रमुख के पुत्र और जमुई के सांसद चिराग पासवान अपने लोकसभा क्षेत्र में जीतन राम मांझी की पार्टी के लिए टिकट आवंटन के खिलाफ NDA के नेतृत्व पर दबाव बढ़ाने में लगे हुए है।

यही नहीं मांझी के राजनीतिक सहयोगी नरेंद्र सिंह अपने बेटों के लिए दो टिकट केलिए दबाव डाल रहे हैं। हालांकि, चिराग इस तरह की रिआयत का विरोध कर रहे हैं। LJP की नज़र उन दो अन्य विधानसभा क्षेत्रों पर है, जहां भाजपा अपने  उम्मीदवारों के लिए उत्सुक है।

चिराग पासवान ने कहा,”हमारे कार्यकर्ताओं ने इस फ़ैस्ले पर आश्चर्य व्यक्त किया है, हमें वह नहीं दिया गया जो बताया गया था”

NDA की एक और सहयोगी दल RLSP में सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने अनिच्छा से सीटों के बटवारे को स्वीकार कर लिया है। लेकिन वह अपने गठबंधन सहयोगियों के साथ और अपने लिए उत्तम सीटों की मांग जारी रखेंगे।

भाजपा नेताओं ने कहा कि पार्टी अपने गठबंधन सहयोगियों के साथ सटीक सीटों पर व्यापक विचार साझा करेगी। लेकिन मामूली परिवर्तन के लिए उन्होंने अपने दरवाज़े खुले रखे थे।

 

LEAVE A REPLY