आरक्षण को लेकर हार्दिक पटेल की मेगा रैली, कहा, आरक्षण की मांग नहीं मानी तो फिर कमल नहीं खिलेगा

0

गुजरात में आरक्षण की मांग को लेकर पटेल समुदाय अहमदाबाद में मेगा रैली कर रहा है।

आंदोलन की अगुवाई कर रहे हार्दिक पटेल ने कहा, ”1998 में कांग्रेस को उखाड़ फेंका था अब 2017 आने वाला है और चुनाव फिर होंगे। जो हमारी बात नहीं मानेगा उसे उखाड़ फेंकेंगे। साफ है कि 2017 में हम कमल को भी उखाड़ सकते हैं। अपने हैं इसलिए प्यार से हक मांगने निकले हैं नहीं तो, आवाज ओबामा तक पहुंचनी चाहिए। गुजरात में केवल एक करोड़ 20 लाख हैं लेकिन हिंदुस्तान में हमारी तादाद 50 करोड़ है। हम 25 अगस्त को क्रांति दिवस बना देंगे।”

गौरतलब है कि रविवार को गुजरात की सीएम आनंदीबेन पटेल ने अखबारों में खुली चिट्ठी लिखकर पटेल समुदाय से आंदोलन खत्म करने की अपील की थी। सीएम ने इस लेटर में लिखा था कि संविधान के हिसाब से पटेलों को आरक्षण देना मुमकिन नहीं है लेकिन इस कम्युनिटी के गरीबों की मदद के लिए सरकार अलग से प्लानिंग कर सकती है। लेकिन हार्दिक ने सीएम की इस अपील को ठुकराते हुए कहा कि सीएम हमारी मांगों से बचने के लिए बहानेबाजी कर रही हैं।

 

हार्दिक ने कहा, “हम जहां निकलते हैं वहां क्रांति शुरू हो जाती है। हम लव-कुश के वंशज हैं। चाहे 14 साल का वनवास क्यों न हो हम पीछे नहीं जा सकते। सरकार कहती है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक हमें आरक्षण नहीं मिल सकता लेकिन हम कहते हैं कि अगर एक आतंकवादी के लिए रात को तीन बजे सुप्रीम कोर्ट खुल सकता है तो हमारे लिए क्यों नहीं।”

गुजरात की राजनीति और बिजनेस सेक्टर में पटेल कम्युनिटी को हमेशा से ताकतवर माना जाता है। गुजरात की कुल आबादी 6 करोड़ 27 लाख है जिसमें पटेल समुदाय की तादाद 20 फीसदी है। पटेल समुदाय आरक्षण और ओबीसी दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर अब तक 70 रैलियां कर चुका है।
हार्दिक का कहना था , “हम किसी के साथ गद्दारी नहीं कर सकते। कांग्रेस और बीजेपी दोनों कह रही हैं कि हमारा आंदोलन उनकी देन है लेकिन यह सही नहीं है। जो पाटीदारों की बात करेगा वही गुजरात पर राज करेगा। आज का दिन पाटीदार क्रांति का दिन है। हम हर साल इसे इसी रूप में मनाएंगे। हमने गुजरात और केंद्र में सरकारें बनाई हैं लेकिन जब हमारे हक की बात आती है तो सब मुंह मोड़ने लगते हैं। हम भीख नहीं केवल अपना हक मांग रहे हैं। जब तक नहीं मिलता, पीछे नहीं हटेंगे। हम पार्टी नहीं पाटीदार हैं। पटेल ने कहा कि ये 100 मीटर की दौड़ नहीं है ये तो मैरॉथन है।

रैली जीएमडीसी ग्राउंड में हो रही। इस मैदान में केवल तीन लाख लोग आ सकते हैं। पटेल समुदाय का दावा है कि करीब 25 लाख लोग रैली में पहुंचेंगे। सरकार के सूत्रों का कहना है कि अगर ऐसा होता है तो यह बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। इसे देखते हुए लोकल एडमिनिस्ट्रेशन ने कुछ स्कूलों में मंगलवार को छुट्टी रखने के ऑर्डर दिए हैं। आम लोगों से कहा गया है कि वे जब तक बहुत जरूरी न हो तो घर से न निकलें। साथ ही राज्य सरकार ने रैली में आने वाले लोगों की तादाद को देखते हुए सिक्योरिटी अरेजमेंट्स सख्त कर दिए हैं। पुलिस के साथ ही पैरामिलिट्री फोर्स को भी तैनात किया गया है।

LEAVE A REPLY