लव-जिहाद के नाम पर स्टिंग में बेनकाब हुए दक्षिणपंथी संगठन

0

कोबरापोस्ट और गुलेल के स्टिंग ‘ऑपरेशन जुलियट’ ने लव जिहाद के नाम पर बीजेपी, आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद के नेताओं का काला चिट्ठा सामने लाया है। इस स्टिंग में दिखाया गया है कि किस-किस तरीकों से इन संगठनों के नेता लव- जिहाद के नाम पर देश में सांप्रदायिकता फैलाने का काम कर रहे हैं।

इस स्टिंग में दिखाया गया है कि लव-जिहाद के नाम पर मुस्लिम लड़कों पर बलात्कार का झूठा मुकदमा लगाया जाता है। साथ ही 125 हिंदू लड़कियों को बचाने का दावा भी किया गया है। इसके लिए लड़कियों से मारपीट और बदतमीजी भी की जाती है, और जब बात न बनती हो तो भड़काऊ भाषण से हिंसा फैलाना की कोशिश की जाती है।

जिन लोगों के ऊपर यह स्टिंग किया गया है वे हैं यूपी के सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम, केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री और मुजफ्फरनगर दंगे के आरोपी संजीव बालियान, श्रीकृष्ण सेना संगठन के संस्थापक शिव कुमार, आरएसएस नेता ओमकार सिंह और शामली से बीजेपी विधायक सुरेश राणा।

Also Read:  Supreme Court refuses to give relief to automobile giants as ban on big cars, SUVs remains

यह स्टिंग ऑपरेशन 2014 लोकसभा चुनाव के बाद यूपी, दिल्ली, कर्नाटक और केरल में एक साल तक चला। लव-जिहाद का मतलब यह माना जाता है कि जब मुस्लिम लड़के हिंदू लड़कियों को प्यार के जाल में फंसा कर उन्हें धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर करते हैं।

इस स्टिंग में बीजेपी विधायक संगीत सोम बता रहे हैं कि किस तरीके से एक हिंदू लड़की को छुड़ाने के लिए वो पुलिस पर दबाव बनाते हैं और मुस्लिम लड़के और परिवार को धमकी देते हैं। इतना ही नहीं अगर कोई नहीं मानता है तो दंगा करने तक की भी धमकी देते हैं। सोम यह कहते हुए सुने जा सकते हैं कि 99 फीसदी जो लड़कियां नाबालिग होती है वह समझाने से मान जाती है। कई बार लड़कियों को इमोशनली भी समझाना पड़ता है जिसमें कहा जाता है कि तेरी मां मर जाएगी, बाप सुसाइड कर लेंगे आदि…।

जब एक टीवी चैनल ने सोम से इस मुद्दे पर बात की तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि मैने कभी कोई ऐसी बातें नहीं कही, लेकिन अगर मैने ऐसा कहा है तो कानून के दायरे में रह कर ही कहा होगा।

Also Read:  VHP protests against Raees shooting in Gujarat, says 'will not forgive' Shah Rukh' if he ever speaks on intolerance

श्रीकृष्ण सेना संगठन के शिव कुमार अपने परिचय में ही कहते हुए सुने जा सकते हैं कि दरअसल वो पहले हिंदू आतंकवादी संगठन के कार्यकर्ता थे जो मुस्लिमों की हत्या किया करते थे और मस्जिदों पर बम फेंकते थे। जिस दिन किसी मुसलमान को मार कर आते थे तो वो जश्न मनाते थे और जिस दिन नहीं मार पाते थे बड़ा अजीब सा महसूस करते थे। उन्होंने कहा कि उनका तो शुरू से ही सपना रहा है कि उन्हें पुलिस पकड़े और जेल ले जाए।

इस स्टिंग में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री संजीव बालियान बता रहे हैं कि किस तरीके से मुजफ्फरनगर दंगों के लिए सभी हिंदू जाति के लोगों को इकट्ठा किया गया था।

लेकिन जब एक टीवी चैनल ने उनसे बात की तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि अगर नाबालिग लड़कियों के साथ लव-जिहाद होता है तो उन लड़कियों को वापस आना चाहिए क्योंकि उन्हें निर्णय लेने का कोई हक नहीं है। लेकिन अगर बालिग लड़की ऐसा करती हैं तो उसे ऐसा करने का अधिकार है।

Also Read:  Trinamool register sensational win in civic body elections, annihilates opposition in all 7 municipalities

आरएसएस नेता ओमकार सिंह कहते हैं कि वो 125 लड़कियों को मुस्लिम लड़कों के चंगूल से निकलवा चुके हैं और इसके लिए वो तंत्र-मंत्र का सहारा भी लेते हैं। साथ ही वो लड़कों पर फिरौती मांगने का झूठा केस भी लगाते हैं और पुलिस पर दंगे करने की धमकी भी देते हैं।

शामली से बीजेपी विधायक सुरेश राणा जो कि ‘बेटी बचाओ और बहु लाओ’ की मुहिम चला रहे हैं, कहते हैं कि लड़कियों को छुड़वाने के लिए वो मुस्लिम लड़कों पर रेप तक का झूठा केस भी दर्ज करवाते हैं।

दरअसल कोबरापोस्ट अपने स्टिंग ऑपरेशन के लिए विख्यात है, जिन्होंने कई सारे स्टिंग ऑपरेशन किए हैं, जबकि गुलेल.कॉम एक वेबसाइट है जिसके साथ मिलकर यह स्टिंग किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here