भारत से बिजली आयात की पाकिस्तानी योजना अवरुद्ध

0

पाकिस्तान की भारत से 4,000 मेगावाट बिजली लेने की योजना दोनों देशों के बीच जारी तनाव के कारण अवरुद्ध हो गई है। समाचार पत्र डॉन के अनुसार, जल एवं विद्युत मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हम भारत से बिजली आयात कैसे कर सकते हैं, जब भारत में सत्ता में बैठे लोग अत्यधिक पाकिस्तान विरोधी रुख अख्तियार किए हुए हैं।”

Also Read:  First phase of Bihar election began today

पानी और बिजली मंत्री ख्वाजा आसिफ ने पिछले सप्ताह सीनेट में कहा था कि पाकिस्तानी और भारतीय अधिकारियों ने भारत से 500 मेगावाट बिजली का आयात करने की योजना पर अप्रैल 2012 में चर्चा की थी।

इन चर्चाओं के दो साल बाद भारत के मेसर्स अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एईएल) ने मामले पर चर्चा करने के लिए अप्रैल 2014 में पाकिस्तान का दौरा किया था।

Also Read:  जानिए कैसे अरनब गोस्वामी के बॉस ने ही अरनब का किया "सर्जिकल सट्राइक"

मंत्री ने कहा कि एईएल ने मंत्रालय को एक मसौदा सौंपा था, जिसमें प्रारंभ में दो-तीन साल तक 500-800 मेगावाट बिजली निर्यात करने का प्रस्ताव था, और इसे धीरे-धीरे बढ़ाकर 3,500-4,000 मेगावाट करने की भी बात कही गई थी।

Also Read:  From Modi to Rahul to 'Saifeena', trolls spared none in 2016

आसिफ ने कहा, “लेकिन इस संबंध में आगे कोई प्रगति नहीं हुई।”

पानी और बिजली मंत्री ने सीनेट को ईरान के साथ ही ताजिकिस्तान और किर्गिस्तान से बिजली आयात करने की योजना के बारे में भी सूचित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here