भाजपा शासित 5वें राज्य हरियाणा ने भी लगाया मीट पर बैन

0

महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के बाद अब भाजपा शासित 5वां राज्य हरियाणा बना है जहां मीट पर बैन लगा दिया गया है। मिल रही जानकारी के मुताबिक हरियाणा में 11 से 18 सितम्बर तक मीट पर बैन किया गया है।

इसकी घोषणा राज्य सरकार ने तब की है जबकि मुंबई में मीट के ऊपर लगे बैन को लेकर व्यापारियों ने काफी रोष जताया। इसके बाद मामला कोर्ट तक पहुंचा और अधिकारियों ने  ने मीट पर से बैन को हटाने का फैसला किया। महाराष्ट्र में  इस समय भाजपा-शिवसेना गठबंधन की सरकार है।

Also Read:  We brought revolution in education & health sectors; others should emulate

महाराष्ट्र में सबसे पहले 8 दिनों के लिए मीट पर बैन की मांग की गई थी।

महत्वपूर्ण बात है वह यह है कि ऐसा बैन 1994 से ही लगाया जा रहा है लेकिन दिनों की संख्या मात्र दो होती थी, जिसे 10 साल बाद यानी 2004 में कांग्रेस की ही सरकार ने चार दिन की कर दी थी ।

साथ ही कुछ मुस्लिम लोगों का कहना है कि अगर जैन समुदायों और हिन्दू समुदायों को लेकर त्योहारों में मीट पर बैन किया जा सकता है तो फिर राज्य सरकार मुस्लिम के पाक महीने रमजान में शराब के ठेकों को एक महीने के लिए क्यों नहीं बंद करती है।

Also Read:  गोरखपुर में नवजातों की मौत को नोबेल विजेता कैलाश सत्यार्थी ने बताया नरसंहार

इसे लेकर छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बैन को लेकर कहा गया है कि जैन समुदायों द्वारा मनाए जा रहे पर्यूषण पर्व को लेकर ऐसा कदम उठाया गया है। इससे पहले राजस्थान सरकार भी मीट को पर्यूषण का हवाला देते हुए कहा था कि 17 और 18 सितम्बर को मीट की दुकानें बंद रखी जाएंगी। साथ ही 27 सितम्बर को भी अनंत चतुर्दशी के दिन मीट को बैन किया गया है। लेकिन राजस्थान में यह बैन 2008 से ही चला आ रहा है जब कांग्रेस शासित अशोक गहलोत की सरकार थी।

Also Read:  Forbes Middle East declares top 100 Indian business leaders

इसी तरह गुजरात के अहमदाबाद में भी बैन लगाया गया है इस सन्दर्भ में अहमदाबाद पुलिस कमिश्नर शिवानंद झा का कहना है कि जैन समुदाय के त्योहार के कारण हर साल यहां इस तरीके के बैन लगाए जाते हैं।

इन सबके बीच जम्मू-कश्मीर में भी बीफ को बैन किया गया है जिसके कारण स्थानिय निवासियों में आक्रोश है औऱ हिंसा भड़कने की भी आशंका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here