पीएम नरेंद्र मोदी ने किया दिल्ली-फरीदाबाद मेट्रो का शुभारंभ, बताया सरकार ने OROP का वादा किया पूरा

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार की सुबह दिल्ली-फरीदाबाद मेट्रो को हरी झंडी दिखाई। इस के बाद उन्होंने फरीदाबाद में एक रैली को भी संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि हमारी NDA की सरकार ने 16 महीने में ही OROP का वादा पूरा किया, जो कांग्रेस की सरकार ने 42 सालों में नहीं पूरा किया था।

इस दौरान मोदी ने कांग्रेस पर OROP के लिए भ्रम फैलाने का आरोप भी लगाया। मोदी ने कहा कि पिछली सरकार के पास ओआरओपी के लिए मात्र 500 करोड़ रुपये थे। लेकिन मेरी सरकार ने 42 साल से अटकी इस परियोजनाओं को मात्र 16 महीने में ही मंजूरी दे दी, जिसके लिए सरकार को 800 करोड़ रुपये का खर्च उठाना पड़ेगा।

Also Read:  30 killed in Gujarat bus accident, PM expresses grief

कांग्रेस पर आरोप के साथ ही उन्होंने कहा कि सेना को चाहने वाले पीएम ऐसे सैनिकों को कैसे छोड़ सकते हैं जो सेना से वीआरएस ले लेते हैं, इसके लिए उन्होंने भरोसा दिलाया कि सरकार जल्द ही उन सबों के लिए भी कुछ करेगी और वे भी इससे बंचित नहीं रहेंगे। मोदी ने कहा कि मेरी सरकार पहले दिन से ही इसके लिए तैयार थी और आज इसका निर्णय आपके सामने है।

साथ ही मोदी ने कहा कि मेरे लिए पूर्व सैनिकों से सम्मान से बढ़ कर कुछ भी नहीं है। इस दौरान उन्होंने यह याद भी दिलाया कि मैं जब पीएम बनने से पहले वादा किया था कि सरकार बनने पर हम OROP का वादा निभाएंगे और मैंने आज उसे पूरा कर दिया है।

Also Read:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मेट्रो के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री केजरीवाल को नहीं किया गया आमंत्रित

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार को एक साथ मिलकर काम करने से ही विकास संभव है। साथ ही मेट्रो को फरीदाबाद तक पहुंचाने के लिए लिए शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू की तारीफ भी की। और फिर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पर भी हरियाणा के विकास करने के लिए विश्वास जताया।

Also Read:  Will JNU crisis cause beginning of Narendra Modi's end

रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि सभी लोगों का अपना घर होगा। मालूम हो कि मोदी 2022 तक सभी के पास अपना घर होने का भरोसा दिलाते हैं। और इस सन्दर्भ में वो जहां कहीं भी जाते हैं चाहे वह बिहार की परिवर्तन रैली हो या फिर शिक्षक दिवस से पहले बच्चों को संबोधित करना या फिर कोई और कार्यक्रम वे सबों के पास अपना घर होने का भरोसा जरूर दिलाते हैं। लेकिन यह कहां तक सफल होगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here