…तो अब लोग होंगे निरोग, खेल-खेल में सिखेंगे योग क्योंकि खेल मंत्रालय ने योग को दिया खेल का दर्जा

0

21 जून को जिस तरीके से भारत के प्रधानमंत्री के द्वारा विश्वव्यापी योग दिवस मनाया गया वो तो मालूम ही होगा। और इसे बढ़ावा देते हुए अब खेल मंत्रालय ने ‘योग’ को खेल के रूप में मान्यता देने का फैसला किया है।

Also Read:  Woman shot at by father, brother over her love affair

साथ ही मंत्रालय ने इसे बड़े अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में अतीत के प्रदर्शन के आधार पर तलवारबाजी को अपग्रेड करते हुए इसे ‘अन्य’ से ‘सामान्य’ वर्ग में डाला है। साथ ही ‘विश्वविद्यालय खेलों’ को ‘प्राथमिकता’ वर्ग में रखने का फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले योगा को प्रतिस्पर्धी खेलों में नहीं शामिल किया जाता था। लेकिन अब आयुश मंत्रालय, जिसके अन्तर्गत योग आता है। अब से इसे खेल का दर्जा दे दिया गया है।

Also Read:  स्कूलों में योग को अनिवार्य कर देने की पैरवी कर रहे वकील से जज साहब ने पुछा 'आखिरी बार योगा कब किया था'

इसके लिए खेल मंत्रालय ने विभिन्न खेलों के वर्गीकरण की समीक्षा की और खेलों के वर्गों में संशोधन भी किया। साथ ही बताया गया है कि ‘सामान्य’ वर्ग के खेलों को बरकरार रखा गया है। इस वर्ग में शामिल होने की पात्रता और इसके अंतर्गत मिलने वाली वित्तीय सहायता के बारे में जानकारी बाद में जारी होगी।

Also Read:  BJP Chief Amit Shah meets Uddhav Thackeray

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here