…तो अब लोग होंगे निरोग, खेल-खेल में सिखेंगे योग क्योंकि खेल मंत्रालय ने योग को दिया खेल का दर्जा

0

21 जून को जिस तरीके से भारत के प्रधानमंत्री के द्वारा विश्वव्यापी योग दिवस मनाया गया वो तो मालूम ही होगा। और इसे बढ़ावा देते हुए अब खेल मंत्रालय ने ‘योग’ को खेल के रूप में मान्यता देने का फैसला किया है।

Also Read:  Embarrassed PMO deletes tweet on I-Day speech claim, the clarification causes further agony

साथ ही मंत्रालय ने इसे बड़े अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में अतीत के प्रदर्शन के आधार पर तलवारबाजी को अपग्रेड करते हुए इसे ‘अन्य’ से ‘सामान्य’ वर्ग में डाला है। साथ ही ‘विश्वविद्यालय खेलों’ को ‘प्राथमिकता’ वर्ग में रखने का फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले योगा को प्रतिस्पर्धी खेलों में नहीं शामिल किया जाता था। लेकिन अब आयुश मंत्रालय, जिसके अन्तर्गत योग आता है। अब से इसे खेल का दर्जा दे दिया गया है।

Also Read:  Special CBI court to hear Ayodhya case on May 24

इसके लिए खेल मंत्रालय ने विभिन्न खेलों के वर्गीकरण की समीक्षा की और खेलों के वर्गों में संशोधन भी किया। साथ ही बताया गया है कि ‘सामान्य’ वर्ग के खेलों को बरकरार रखा गया है। इस वर्ग में शामिल होने की पात्रता और इसके अंतर्गत मिलने वाली वित्तीय सहायता के बारे में जानकारी बाद में जारी होगी।

Also Read:  U.S. investigates TCS, Infosys for H1-B Visa Violations

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here