NDTV ऑफिस के पास पहुंच ‘जी’ ने रवीश कुमार को की उकसाने की कोशिश! अर्नब गोस्वामी और अंजना ओम कश्यप ने नहीं दी प्रतिक्रिया

0

जी मीडिया ग्रुप के एक चैनल ‘जी हिंदुस्तान’ ने बृहस्पतिवार (10 जनवरी) को अंग्रेजी और हिंदी अखबारों में फुल पेज विज्ञापन देकर अपने प्रतिद्वंद्वी न्यूज चैनलों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। गुरुवार को ‘जी हिंदुस्तान’ की तरफ से हिंदी दैनिक अखबार ‘हिंदुस्तान’ और ‘द टाइम्स ऑफ इंडिया’ में प्रकाशित एक विज्ञापन में रिपब्लिक टीवी के एडिटन इन चीफ अर्नब गोस्वामी, इंडिया टीवी के चैयरमैन रजत शर्मा और एनडीटीवी के रवीश कुमार के भविष्य को लेकर सवाल उठाया गया है।

रविश कुमार

इस विज्ञापन के जरिए जी हिंदुस्तान ने रजत शर्मा के साथ-साथ एनडीटीवी के रवीश कुमार और अर्नब गोस्वामी को सीधे-सीधे चुनौती दी है। हिंदुस्तान में जारी विज्ञापन में लिखा गया है, “अर्नब की डिबेट अब कौन सुनेगा? रवीश कुमार का प्राइम अब नहीं रहा प्राइम! इंडिया में अब रजत की अदालत बंद!” विज्ञापन में आगे लिखा गया है कि अब एंकर नहीं खबरें खुल बोलेंगी, क्योंकि आप समझदार हैं। आगे लिखा है कि जी हिंदुस्तान है देश का पहला न्यूज चैनल जहां हर खबर होगी बिना एंकर ताकि खबरों और आपके नजरिए पर किसी राय हावी न हो।

रवीश कुमार को की उकसाने की कोशिश

इस बीच अखबारों के जरिए चुनौती देने के बाद अब ‘जी हिंदुस्तान’ दक्षिणी दिल्ली में NDTV ऑफिस के पास एक उत्तेजक होर्डिंग लगाकर रवीश कुमार को उकसाने की कोशिश की है। जी के इस होर्डिंग वाले विज्ञापन पर लिखा है, “रवीश का प्राइम अब नहीं रहा प्राइम! अब एंकर नहीं खबरें खुल बोलेंगी, क्योंकि आप समझदार हैं।” आपको बता दें कि ‘जी’ के इस विज्ञापन का संदर्भ एनडीटीवी इंडिया पर आने वाले रवीश कुमार के उस लोकप्रिय प्राइम टाइम डिबेट शो से, जो सोमवार से शुक्रवार हर रोज रात 9 बजे प्रसारित होता है।

इससे पहले ‘जी हिंदुस्तान’ ने बुधवार (9 जनवरी) को अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदुस्तान टाइम्स’ में पूरे पेज के एक विज्ञापन में रिपब्लिक टीवी के एडिटन इन चीफ अर्नब गोस्वामी, इंडिया टीवी के चैयरमैन रजत शर्मा और आजतक की अंजना ओम कश्यप के भविष्य को लेकर सवाल उठाते हुए चुनौती दी थी। विज्ञापन में कहा गया था कि, “अर्नब की डिबेट अब कौन सुनेगा? अंजना की जरूरत थी सिर्फ कल तक! इंडिया में अब रजत की अदालत बंद!”

इस विज्ञापन में अंजन के जरिए आजतक और रजत की अदालत के जरिए इंडिया टीवी को चुनौती दी गई है। बता दें कि अंजना आजतक की मुख्य चेहरा हैं, वहीं रजत शर्मा इंडिया टीवी के मालिक हैं जिनका शो ‘आप की अदालत’ काफी प्रसिद्ध है। वहीं, ‘जी’ ने अर्नब गोस्वामी को इसलिए निशाना बनाया है, क्योंकि रिपब्लिक टीवी जल्द ही ‘रिपब्लिक भारत’ के नाम से एक हिंदी न्यूज चैनल भी लॉन्च करने वाला है। बता दें कि गोस्वामी का रिपब्लिक टीवी अंग्रेजी में सबसे ज्यादा देखा जाने वाले चैनल है।

अर्नब गोस्वामी और अंजना ओम कश्यप ने नहीं दी प्रतिक्रिया

जी हिंदुस्तान के इस विज्ञापन पर गोस्वामी, आजतक या इंडिया टीवी ने कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है, हालांकि एनडीटीवी की एक वरिष्ठ पत्रकार और ग्रुप में कार्यरत सीनियर अधिकारी ने जरूर तंज कसते हुए एक ट्वीट की हैं। NDTV की सीईओ सुपर्णा सिंह ने यह प्रतिक्रिया दी हैं। लोगों को उम्मीद है कि रवीश कुमार जल्द ही अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए जी पर पलटवार कर सकते हैं।

दरअसल, गुरुवार को हिंदुस्तान में प्रकाशित जी के विज्ञापन में लिखा गया है कि अब एंकर नहीं खबरें खुल बोलेंगी, क्योंकि आप समझदार हैं। आगे लिखा है कि जी हिंदुस्तान है देश का पहला न्यूज चैनल जहां हर खबर होगी बिना एंकर ताकि खबरों और आपके नजरिए पर किसी राय हावी न हो। खबर है कि जी हिंदुस्तान बगैर एंकर के ऑन एयर करके इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एक नया प्रयोग करने जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here