‘जी’ ने विज्ञापन के जरिए अर्नब गोस्वामी, रजत शर्मा, रवीश कुमार और अंजना ओम कश्यप के खिलाफ खोला मोर्चा

0

जी मीडिया ग्रुप के एक चैनल ‘जी हिंदुस्तान’ ने बुधवार (9 जनवरी) और बृहस्पतिवार (10 जनवरी) को अंग्रेजी और हिंदी अखबारों में फुल पेज विज्ञापन देकर अपने प्रतिद्वंद्वी न्यूज चैनलों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बुधवार को जी हिंदुस्तान की तरफ से अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदुस्तान टाइम्स’ में पूरे पेज के एक विज्ञापन में रिपब्लिक टीवी के एडिटन इन चीफ अर्नब गोस्वामी, इंडिया टीवी के चैयरमैन रजत शर्मा और आजतक की अंजना ओम कश्यप के भविष्य को लेकर सवाल उठाया गया है।

विज्ञापन में कहा गया है, “अर्नब की डिबेट अब कौन सुनेगा? अंजना की जरूरत थी सिर्फ कल तक! इंडिया में अब रजत की अदालत बंद!” इस विज्ञापन में अंजन के जरिए आजतक और रजत की अदालत के जरिए इंडिया टीवी को चुनौती दी गई है। बता दें कि अंजना आजतक की मुख्य चेहरा हैं, वहीं रजत शर्मा इंडिया टीवी के मालिक हैं जिनका शो ‘आप की अदालत’ काफी प्रसिद्ध है।

इसके अलावा जी हिंदुस्तान ने अर्नब गोस्वामी को इसलिए निशाना बनाया है, क्योंकि रिपब्लिक टीवी जल्द ही ‘रिपब्लिक भारत’ के नाम से एक हिंदी न्यूज चैनल भी लॉन्च करने वाला है। लोगों को उम्मीद है कि ‘रिपब्लिक भारत’ से शीर्ष पर सवार आजतक सहित अन्य हिंदी चैनलों को कड़ी चुनौती मिल सकती है। बता दें कि गोस्वामी का रिपब्लिक अंग्रेजी में सबसे ज्यादा देखा जाने वाले चैनल है।

इसके अलावा जी हिंदुस्तान ने गुरुवार को हिंदी दैनिक अखबार ‘हिंदुस्तान’ में भी एक फूल पेज का विज्ञापन जारी किया है। इस विज्ञापन में अर्नब और रजत शर्मा के साथ-साथ एनडीटीवी के रवीश कुमार को भी निशाने पर लिया गया है। हिंदुस्तान में जारी विज्ञापन में लिखा गया है, “अर्नब की डिबेट अब कौन सुनेगा? रवीश कुमार का प्राइम अब नहीं रहा प्राइम! इंडिया में अब रजत की अदालत बंद!”

जी हिंदुस्तान के विज्ञापन में लिखा गया है कि अब एंकर नहीं खबरें खुल बोलेंगी, क्योंकि आप समझदार हैं। आगे लिखा है कि जी हिंदुस्तान है देश का पहला न्यूज चैनल जहां हर खबर होगी बिना एंकर ताकि खबरों और आपके नजरिए पर किसी राय हावी न हो। दरअसल, खबर है कि जी हिंदुस्तान बगैर एंकर के ऑन एयर करके इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एक नया प्रयोग करने जा रहा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here