ज़ी के मालिक सुभाष चंद्रा का पाकिस्तानी कलाकारों पर सनसनीखेज बयान, “वसुधैव कुटुम्बकम” पर खुली उनकी पोल

0

मीडिया टाइकून और जी चैनल के मालिक सुभाष चंद्रा, दक्षिणपंथीयों के सूर में सूर मिलते हुए पाकिस्तानी कलाकारों को भारत छोड़ने के मुहीम में शनिवार को शामिल हो गए।

राज्‍यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने ट्वीट कर बताया कहा कि वे पाकिस्‍तानी शो को हटाने पर विचार कर रहे हैं। साथ ही उन्‍होंने पाक कलाकारों को भारत छोड़ने को भी कहा।

चंद्रा के अनुसार पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के संयुक्‍त राष्‍ट्र में दिए बयान के बाद उन्‍हें ऐसा करना पड़ रहा है। उन्‍होंने लिखा, ”संयुक्‍त राष्‍ट्र में मियां शरीफ का दुर्भाग्‍यपूर्ण रुख। जी जिंदगी चैनल से पाकिस्‍तानी कार्यक्रमों का प्रसारण रोकने पर विचार कर रहा है। साथ ही वहां से आने वाले कलाकारों को भी वापस लौट जाना चाहिए।”

गौरतलब है कि भारतीय टेलीविजन में अगर पसंदीदा धारावाहिकों की बात करे तो कहीं न कहीं ‘ज़िन्दगी’ पर आने वाले लगभग सारे धारावाहिक हिन्दुस्तानियो के दिल को छु जाने वाले वाले होते हैं और ऐसे में पाकिस्‍तानी कार्यक्रमों का प्रसारण रोकने पर एक नया विवाद पैदा हो सकता है।

सुभाष चंद्रा के अनुसार, ‘ज़िन्दगी’ चैनल की शुरूवात “वसुधैव कुटुम्बकम” जिसका मतलब ‘पूरा विश्‍व हमारा परिवार’ के सिद्धां‍त पर रखा गया था। ज़िन्दगी चैनल का सफर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण सामारोह के बाद लिया गया था।जिसमे नवाज़ शरीफ और चंद्रा ने खुद ‘ज़िन्दगी’ चैनल को ग्रीन सिग्नल दिया था।

अब गौर करने वाली बात ये है कि जिस सुभाष चंद्रा ने इस चैनल को “वसुधैव कुटुम्बकम” के बुनियाद पर रखी हो और आज वे ही इस सिद्धान्त पर खुद यकीन नहीं कर रहे हैं।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने शुक्रवार को बयान जारी कर कहा कि पाकिस्‍तानी कलाकार 48 घंटे में भारत से चले जाएं। उन्‍होंने ‘ए दिल है मुश्किल’ और रईस को रीलीज न होने देने की धमकी भी दी।

उड़ी में हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच पैदा हुए तनाव का सीधा-सीधा असर यहां काम करने वाले पाकिस्तानी कलाकारों पर पड़ता दिख रहा है।

भारत में काम करने वाले पाकिस्तानी कलाकारों में फवाद खान, अली ज़फर, माहिरा खान, गुलाम अली, राहत फतेह अली खान और आतिफ असलम जैसे कलाकारों के नाम शामिल हैं।

 

LEAVE A REPLY