ज़ी न्यूज़ ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को भेजा 1000 करोड़ का मानहानि नोटिस

0

ज़ी न्यूज़ ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर और पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को जी मीडिया के खिलाफ झूठे आरोप लगाने और अपमानि‍त करने के लिए 1000 करोड़ रुपए का मानहानि का नोटिस भेजा है। इसकी जानकारी जी न्यूज के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी ने अपने ट्विटर पर दी है।

जी न्यूज़

सुधीर चौधरी ने ट्विटर पर लिखा, जी मीडिया के खिलाफ झूठे आरोप लगाने और अपमानि‍त करने के लिए जी न्यूज़ ने नवजोत सिंह सिद्धू को 1000 करोड़ रुपए का मानहानि का नोटिस भेजा है। यदि वह इसके लिए माफी नहीं मांगते हैं तो इस मामले में न्‍याय के लिए उनके खिलाफ सभी कानूनी विकल्‍पों का सहारा ल‍िया जाएगा।

दरअसल, यह मामला राजस्‍थान में नवजोत सिंह सिद्धू की एक रैली से जुड़ा हुआ है। बता दें कि पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनाव के दौरान सिद्धू ने अलवर में एक चुनावी सभा को संबोधित किया था। जी न्यूज़ ने इसी सभा का एक वीडियो प्रसारित किया था जिसमें आरोप लगाया गया था कि भीड़ के एक वर्ग ने उनकी सभा में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए थे।

दरअसल, जी न्यूज ने दावा किया था कि राजस्थान के अलवर में नवजोत सिंह सिद्धू की एक चुनावी रैली के दौरान ‘पाकिस्तान जिन्दाबाद’ के नारे लगाए गए थे। चैनल ने दावा किया कि जब पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लग रहे थे उस दौरान नवजोत सिंह सिद्धू मुस्कुरा रहे थे।

जी न्यूज़ ने इस वीडियो को अपने ट्विटर पेज पर भी शेयर किया था।  हालांकि, कांग्रेस ने दावा किया है कि पाकिस्तान के समर्थन में नारा लगाने का वीडियो फर्जी है। कांग्रेस की आपत्ति के बाद जी न्यूज ने इस वीडियो को डिलीट कर दिया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने नवजोत सिंह सिद्धू की सभा के दौरान की असली वीडियो को ट्वीट कर जी न्यूज, रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ पर निशाना साधा है। सुरजेवाला ने नवजोत सिंह सिद्धू की सभा का जो मूल वीडियो ट्वीट किया है उसमें ‘जो बोले सो निहाल… सत श्री अकाल’ के नारे लगाते हुए लोग सुनाई दे रहे हैं।रणदीप सुरजेवाला के अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी न्यूज चैनलों पर निशाना साधा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here