जी न्यूज़ ने चलाई अध्ययन सुमन की आत्महत्या की फर्जी खबर, बेटे की मौत की अफवाह पर भड़के शेखर सुमन; चैनल के खिलाफ लीगल एक्शन लेने की कही बात; चैनल ने मांगी माफी

0

देश के बड़े समाचार चैंनलों में से एक ‘जी न्यूज़’ ने अभिनेता शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन की आत्महत्या की फर्जी ख़बर चला दी, जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा हैं। वहीं, इस ख़बर को देखने के बाद शेखर सुमन ने सोशल मीडिया पर कई पोस्ट शेयर कर ‘जी न्यूज़’ के खिलाफ जमकर गुस्सा और नाराजगी जताई। अभिनेता ने अपनी पोस्ट में चैनल के खिलाफ लीगल एक्शन लेने की बात भी कही है। हालांकि, अध्ययन बिल्कुल सुरक्षित हैं और दिल्ली में हैं।

अध्ययन सुमन
फाइल फोटो

अपनी आत्महत्या की फर्जी खबर पर प्रतिक्रियां देते हुए अध्ययन सुमन ने अपने ट्वीट में लिखा, “ज़ी न्यूज़ कैसे लिख सकता है कि मैंने आत्महत्या कर ली है?!! तुम लोगों को क्या हर्ज है! आपने ऐसा करके मेरे परिवार को दु: ख दिया है और आप इसके लिए भुगतान करेंगे! इसे फैलाने के लिए लोग कृपया मेरी मदद करें। दुनिया को यह देखने की ज़रूरत है कि वे TRP के लिए कितना नीचे गिर सकते हैं!”

शेखर सुमन ने चैनल की वीडियो क्लिप शेयर करते हुए अपने पोस्ट में लिखा, “एक जी न्यूज़ की खबर देखी, जिसने हम सभी को तबाह कर दिया। इस न्यूज में दावा किया गया कि अध्ययन सुमन ने आत्महत्या कर ली है। इस न्यूज को देखने के तुरंत बाद ही हमने अध्ययन को संपर्क किया। वो दिल्ली में था और पहुंच से बाहर आ रहा था। इस कारण हम सभी उस एक पल में कई हजार बार मरे। इस चौंकाने वाली खबर के कारण हम सभी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है।”

शेखर ने अगली पोस्ट में आगे लिखा, मैं चैनल से तत्काल सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की डिमांड करता हूं। मैं IT मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर, महाराष्ट्र CM ऑफिस और NCP अनिल देशमुख से निवेदन करता हूं कि इस तरह के गैरजिम्मेदार और निंदनीय कृत्य के लिए चैनल के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करें।

उन्होंने अपने पोस्ट में आगे लिखा, “बीते दिन न्यूज चैनल ने अनुचित रूप से गैरजिम्मेदाराना कार्य किया। उन्होंने एक ऐसी न्यूज चलाई जिसने मुझे, मेरी पत्नी और मेरे परिवार के सभी सदस्यों को तबाह कर दिया। इस न्यूज को देखने के बाद मेरी पत्नी सदमे में आ गई थी। क्योंकि इस न्यूज चैनल ने घोषणा की थी कि अध्ययन सुमन ने आत्महत्या कर ली है। इस दौरान अध्ययन घर पर भी नहीं था, वो दिल्ली में था।”

शेखर ने लिखा, “इस तरह के निंदनीय कृत्य के लिए मैं चैनल के खिलाफ लीगल एक्शन ले रहा हूं। मीडिया को अधिक जिम्मेदार होना चाहिए, ना की अपने स्वार्थ के लिए लोगों का जीवन तबाह करें। मैं सभी लोगों से प्रार्थना करता हूं कि सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर चैनल को बैन करने की मांग करें।”

शेखर ने कहा, “हम डर गए हैं और अभी भी सदमे से बाहर नहीं आए हैं। मैं सभी लोगों से अनुरोध करता हूं कि चैनल के इस तरह के अनुचित व्यवहार के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट करें और चैनल को बैन करने की मांग करें। ताकि आगे से किसी और व्यक्ति के साथ ऐसा ना हो। मैं चैनल के खिलाफ उपयुक्त लीगल एक्शन ले रहा हूं।”

वहीं, शेखर सुमन के इन ट्वीट के बाद जी न्यूज़ ने अपनी फर्जी ख़बर के लिए माफी मांग ली हैं। जी न्यूज़ ने अपने माफीनामा में लिखा, “मानवीय भूल के कारण शनिवार को जी न्यूज़ के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन को लेकर एक वीडियो में गलत तथ्य प्रसारित हो गया था, इसके लिए हम खेद जताते हैं। सुमन परिवार की आहत हुईं भावनाओं पर जी डिजिटल क्षमाप्रार्थी है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here