VIDEO: ‘एलियन’ ले गया वायुसेना का लापता विमान? अजीबोगरीब दावा कर सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए जी मीडिया के एंकर

0

वायुसेना के लापता एएन-32 विमान का 7 दिन बाद भी कुछ पता नहीं चल पाया है। खराब मौसम के बीच शनिवार को छठे दिन भी खोज अभियान लगातार जारी रहा। ये विमान गत सोमवार को अरुणाचल प्रदेश में लापता हो गया था। इस विमान में 13 लोग सवार थे। लापता हुए विमान का पता लगाने के लिए मिलिट्री एजेंसियों और वायुसेना ने पूरी ताकत झोंक दी है। नेवी के ताकतवर सिंथेटिर अपर्चर रेडार वाले पी8आई एयरक्राफ्ट के अलावा इसरो के RISAT यानी रेडार इमेजिंग सैटलाइट और वायुसेना के विमानों व हेलिकॉप्टरों के बेड़े को भी खोज अभियान में लगाया गया है।

वायुसेना ने इस विमान के बारे में पुख्ता जानकारी देने वालों को 5 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा भी कर दी है। डिफेंस पीआरओ विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने शिलॉन्ग में बताया कि एयर मार्शल आरडी माथुर, AOC इन कमांड, इस्टर्न एयर कमांड ने 5 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि लापता एएन-32 विमान की पुख्ता जानकारी देने वाले व्यक्ति या समूह को यह इनाम दिया जाएगा।

इस बीच, जी मीडिया ग्रुप के हिंदी समाचार चैनल ‘जी हिंदुस्तान’ ने लापता विमान को लेकर एक ऐसा अजीबोगरीब दावा किया है कि सोशल मीडिया पर उसे और चैनल के एंकर को उपहास का सामना करना पड़ रहा है। चैनल के एंकर ने सनसनीखेज दावा करते हुए कहा कि शायद भारतीय वायु सेना के लापता विमान को एलियंस लेकर चले गए हैं।

एंकर ने कहा कि ऐसे में उस विमान को आसमान ने तो नहीं निगला होगा…धरती ने तो खुद में उसे समाहित नहीं किया होगा…समंदर ने तो उसे खुद में समाया नहीं होगा…तो फिर क्या लगता है? यही तो एक वजह है कि अटकलें लगने लगी हैं कि क्या एलियन ले गया विमान? जी हिंदुस्तान का यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया है और लोग चैनल और एंकर को ट्रोल कर रहे हैं।

देखें, लोगों की प्रतिक्रियाएं:

भारतीय सेना के एक प्रवक्ता ने बताया था कि विमान ने जोरहाट से सोमवार दोपहर 12 बजकर 25 मिनट पर अरुणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन कुछ समय के बाद विमान का संपर्क टूट गया। विमान ने असम के जोरहाट से चीन की सीमा के पास मेंचूका के लिए उड़ान भरी थी।

अधिकारियों ने बताया कि वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने शनिवार को जोरहाट का दौरा किया। वायुसेना के अधिकारियों ने बताया कि धनोआ को अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई और स्थिति से अवगत कराया गया। इसके बाद उन्होंने उन अधिकारियों और वायुसेना के कर्मियों के परिजनों से मुलाकात की, जो भारतीय वायुसेना के विमान में सवार थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here