इस्लामी प्रचारक ज़ाकिर नाइक के पिता का निधन

0

इस्लामी प्रचारक ज़ाकिर नाइक के पिता अब्दुल करीब नाईक का रविवार तड़के दिल का दौरा पड़ने से मुंबई स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। 87 साल के अब्दुल पेशे से एक फिजिशयन और शिक्षाविद थे।

zakir-naik

भाषा की खबर के अनुसार, ज़ाकिर के एक सहयोगी ने बताया, ‘मझगांव स्थित अपने आवास पर तड़के 3:30 बजे उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह उससे उबर नहीं सके। अब्दुल पिछले कुछ समय से बीमार थे। इसी इलाके के एक कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया।’ तटीय महाराष्ट्र के रत्नागिरि में जन्मे अब्दुल पेशे से डॉक्टर थे। मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों के निजी संगठन बॉम्बे साइकिऐट्रिक सोसाइटी के वह 1994-95 में अध्यक्ष भी थे। वह शिक्षा के क्षेत्र में भी सक्रिय थे।

Also Read:  CD कांड: पढ़िए, क्या कहा अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने संदीप कुमार के निलंबन को लेकर

बीते जुलाई महीने में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हमला करने वाले कुछ आतंकवादियों के कथित तौर पर ज़ाकिर के उपदेशों से प्रेरित होने की खबरें सामने आने से पैदा हुए विवाद के वक्त जाकिर विदेश में थे और उसके बाद से वह भारत नहीं आए हैं। ज़ाकिर अपने पिता को श्रद्धांजलि देने के लिए जल्द ही भारत आ सकते हैं।

Also Read:  Dr Zakir Naik to be booked under anti-terror law?

ज़ाकिर की ओर से अपने पिता के अंतिम-संस्कार में शरीक न होने के बारे में पूछे जाने पर उनके सहयोगी ने बताया, ‘वह शरीक हो पाने में सक्षम नहीं थे। वह जल्द ही यहां आकर अपने पिता को श्रद्धांजलि देंगे।’ ज़ाकिर नाइक का एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन भी सुरक्षा एजेंसियों की जांच के दायरे में है। इस एनजीओ को जल्द ही आतंकवाद निरोधक कानून के तहत प्रतिबंधित किया जा सकता है।

Also Read:  4 home ministry officials suspended for renewing Zakir Naik's NGO's licence

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here