इस्लामी प्रचारक ज़ाकिर नाइक के पिता का निधन

0

इस्लामी प्रचारक ज़ाकिर नाइक के पिता अब्दुल करीब नाईक का रविवार तड़के दिल का दौरा पड़ने से मुंबई स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। 87 साल के अब्दुल पेशे से एक फिजिशयन और शिक्षाविद थे।

zakir-naik

भाषा की खबर के अनुसार, ज़ाकिर के एक सहयोगी ने बताया, ‘मझगांव स्थित अपने आवास पर तड़के 3:30 बजे उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह उससे उबर नहीं सके। अब्दुल पिछले कुछ समय से बीमार थे। इसी इलाके के एक कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया।’ तटीय महाराष्ट्र के रत्नागिरि में जन्मे अब्दुल पेशे से डॉक्टर थे। मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों के निजी संगठन बॉम्बे साइकिऐट्रिक सोसाइटी के वह 1994-95 में अध्यक्ष भी थे। वह शिक्षा के क्षेत्र में भी सक्रिय थे।

Also Read:  Mumbai police serve ban notification to Zakir Naik's IRF

बीते जुलाई महीने में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हमला करने वाले कुछ आतंकवादियों के कथित तौर पर ज़ाकिर के उपदेशों से प्रेरित होने की खबरें सामने आने से पैदा हुए विवाद के वक्त जाकिर विदेश में थे और उसके बाद से वह भारत नहीं आए हैं। ज़ाकिर अपने पिता को श्रद्धांजलि देने के लिए जल्द ही भारत आ सकते हैं।

Also Read:  Govt puts Zakir Naik's NGO under prior permission list

ज़ाकिर की ओर से अपने पिता के अंतिम-संस्कार में शरीक न होने के बारे में पूछे जाने पर उनके सहयोगी ने बताया, ‘वह शरीक हो पाने में सक्षम नहीं थे। वह जल्द ही यहां आकर अपने पिता को श्रद्धांजलि देंगे।’ ज़ाकिर नाइक का एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन भी सुरक्षा एजेंसियों की जांच के दायरे में है। इस एनजीओ को जल्द ही आतंकवाद निरोधक कानून के तहत प्रतिबंधित किया जा सकता है।

Also Read:  Modi government lifts suspension of IAS officer for renewing Zakir Naik's NGO's licence

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here