उत्तर प्रदेश: गरीबी ने किया मजबूर, पति के इलाज के लिए 15 दिन के मासूम बच्चे को मां ने 45,000 में बेचा

0

गरीबी इंसान से क्या-क्या करा सकती है, इसका अंदाजा किसी को नहीं होता। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश से सामने आया है जो बेहद ही शर्मनाक है। यहां पर एक मां ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर अपने 15 दिन के मासूम बच्चे को बेच दिया।

उत्तर प्रदेश
photo- ANI

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, यह घटना उत्तर प्रदेश के बरेली जिला के मीरगंज इलाके की है। जहां पति के इलाज के खातिर एक महिला ने अपने 15 दिन के मासूम बच्चे को मात्र 45,000 रुपए में बेच दिया।

ख़बरों के मुताबिक, यह मामला तब सामने आया जब पड़ोसियों ने बच्चा गायब देखकर दंपति से उसके बारे में पूछा तो यह हकीकत सामने आई।

दैनिक भास्कर न्यूज़ वेबसाइट की ख़बर के मुताबिक, मजदूरी करने वाले हरस्वरूप मौर्य ने कहा कि, ‘बेचते नहीं तो क्या करते। हमारे पास कोई चारा नहीं था। इलाज नहीं हो सका, अब पैरों ने काम करना बंद कर दिया है। नौकरी करने के लायक नहीं बचा हूं।’ साथ ही हरस्वरूप ने बताया कि, ‘उसके पास जमीन नहीं है, राशन कार्ड भी नहीं बना है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 9 अक्टूबर को काम करते वक्त खटीमा में निर्माणाधीन मकान की दीवार का एक हिस्सा हरस्वरूप मौर्य के ऊपर गिर गया, जिसमें वो गंभीर रूप से घायल हो गया। इस घटना के बाद से कमर के नीचे का हिस्से ने काम करना बंद कर दिया, पैसों की कमी की वजह से इलाज ठीक से नहीं हो सका। घर में अकेले कमाने वाले हरस्वरूप के बीमार होने से घरवालों के सामने पैसे की परेशानी आने लगी।

बता दें कि जहां एक तरफ केन्द्र सरकार ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ की योजना चला रही है, वहीं दूसरी तरफ इस तरह की घटनाएं रोंगटे खड़ी कर देने वाली और बेहद निराशाजनक है।

बता दें कि, अभी कुछ दिनों पहले त्रिपुरा के तेलियामुरा के महारानीपुर में एक व्यक्ति ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर मात्र 200 रुपये के लिए अपनी 8 महीने की बच्ची को बेच दिया था। पूछने पर व्यक्ति ने बताया कि उसने गरीबी के चलते ऐसा कदम उठाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here