आगरा: नशे में धुत युवकों ने महिला पत्रकार से की छेड़छाड़, हेल्पलाइन से भी नहीं मिली मदद, फेसबुक पर सुनाई अपनी आपबीती

0

उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ आपराधिक घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रहीं, जिसका ताजा बेहद की चौका देने वाले सामने आया है। आगरा में एक स्थानीय महिला पत्रकार के साथ छेड़खानी का मामला सामने आया है। इतना ही नहीं महिला हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करने के बाद भी किसी तरह की मदद नहीं मिली।

दरअसल, पिछले गुरुवार को महिला पत्रकार दामिनी माहौर काम खत्म करके घर लौट रही थी तभी रास्ते में नशे में धुत दो युवकों ने उनका पीछा किया और छेड़छाड़ की। दामिनी का कहना है कि उन्होंने महिला हेल्पलाइन नंबर 1090 पर इसकी शिकायत की भी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

इसके बाद दामिनी ने फेसबुक पर इस घटना को शेयर किया जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। फेसबुक पोस्ट के वायरल हो जाने के बाद से ही महिला हेल्पलाइन और पुलिस विभाग ने कार्रवाई कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आप भी पढ़िए दामिनी माहौर का फेसबुक पोस्ट :

’25 जनवरी 2018 रात 8 बजे मैं भगवान टॉकीज़ से एम जी रोड पर जा रही थी। भगवान टॉकीज़ से ये दो नौजवान युवक, जो कि नशा किये हुए थे। मुझे इशारे करते हुए मेरे साथ साथ चलने लगे। मैंने पहले तो इनको नज़र अंदाज़ किया, लेकिन थोड़ी देर बाद ये मुझसे बात करने की कोशिश करने लगे। सूरसदन पर आकर मैंने अपना रास्ता बदल लिया और दूसरी तरफ मुड़ गयी। वहीं ये लोग भी पीछे पीछे आ गए। जब मैं बहुत परेशान हो गयी तो मैं इन दोनों की गाड़ी के नम्बर की फोटो खींचने लगी तो पीछे बैठा युवक बोला कि नम्बर फ़र्ज़ी है। फिर जब मैंने उसकी फोटो ली तो वो अलग अलग पोज़ देने लगा। जैसा कि आप फोटो में देख सकते हैं, शर्म और डर नाम की कोई चीज़ इनके चेहरे पर दिखाई नहीं दे रही।

बात यहीं खत्म नहीं हुई, मैंने घर आकर महिला हेल्प लाइन नम्बर ‘1090’ पर फोन किया और अपनी कम्प्लेंट रजिस्टर करानी चाही। तो वहाँ मेरी बात सुनने के बाद बोला गया कि आपके पास कम्प्लेंट रजिस्टर का नम्बर आएगा और आज 4 दिन बीत जाने के बाद भी कोई कम्प्लेंट रजिस्टर नहीं मिला जहां मुझे ‘महिला हेल्प लाइन’ सेवा नाकाम होती दिखी।

ये युवक तो चले गए बेशर्मों की तरह… पर मुझे शर्म आयी हमारी महिला हेल्प लाइन पर हमारी पुलिस पर सरकार पर जिसका कोई ख़ौफ़ इन बेशर्म लड़कों की शक्ल पे दूर दूर तक नज़र नहीं आ रहा। इन्होंने मेरे साथ जो किया वो गुनाह इतना बड़ा नहीं था। पर ऐसी मानसिकता वाले ये लड़के जिन्हें पुलिस का कोई ख़ौफ़ नहीं यही लड़के आज अगर किसी को छेड़ रहे है तो कल किसी का बलात्कार भी इसी बेशर्मी से कर के किसी लड़की की ज़िंदगी बर्बाद कर देंगे। नेता पहुंच जाएंगे कैंडल जला कर अपना चेहरा चमकाने के लिये और हाथ पर हाथ रख कर बैठी रह जायेगी ये नाम की महिला हेल्प लाइन ,पुलिस और सरकारें।

आज मुझे बड़े ही अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि मुझे शर्म है ऐसी महिला हेल्पलाइन, एसएसपी आगरा, डीजीयूपी और योगी आदित्यनाथ पर।’

और ये है पूरा वाक़्या….25 जनवरी 2018 रात 8 बजे मैं भगवान टॉकीज़ से एम जी रोड पर जा रही थी।भगवान टॉकीज़ से ये दो नौजवान…

Posted by Damini Mahaur on Sunday, 28 January 2018

एबीपी न्यूज़ के मुताबिक, इस मामले पर 1090 के प्रभारी आईजी नवनीत सिकेरा ने कहा कि, ‘हमने दामिनी से घटना के लिए माफी मांगी है और लापरवाही बरतने के लिए अपने दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। हम हर साल 10 लाख मामलों को देखते हैं और यह घटना अपने आप में दुर्लभ है।’

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में पत्रकार दामिनी माहौर ने कहा कि, ‘1090 पर फोनकर घटना के बारे में बताने के चार दिन बाद तक मेरी कोई मदद नहीं हुई। जब मैंने फेसबुक पर लिखा तो 1090 के अधिकारियों ने उनसे बात की और ड्यूटी में लापरवाही बरतने के लिए माफी मांगी।’

नवभारत टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, दामिनी की एफआईआर के आधार पर आगरा पुलिस ने सोमवार शाम को पीछा करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। उन्हें आईपीसी की धारा 354 डी के तहत जेल भेज दिया गया है। आईपीएस श्लोक कुमार ने बताया कि दोनों की पहचान उबैदुल्लाह और सबाहुद्दीन के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने उनकी गाडि़यों को भी जब्त कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here