अंधविश्वास: 73 वर्षीय महिला को बताया डायन, जंगल में जिंदा जलाया

0

पेरु के जंगलों में स्थित एक दूरदराज के क्षेत्र में एक समुदाय में जादू-टोना करने की एक आरोपी महिला को जिंदा जला दिया।

अभियोजक ह्यूगो मौरिसियो ने बताया कि शिरिंगमाजू आल्टो समुदाय के सदस्यों ने 73 वर्षीय रोजा विल्लर जारीओनका को मौत की सजा दी. महिला पर जादू-टोना के द्वारा लोगों को बीमार बनाने का आरोप था।

Also Read:  बिहार चुनाव में बीजेपी की करारी हार के बाद शत्रुघ्न सिन्हा का दर्द बाहर आया

महिला को कथित तौर पर जलाने की यह घटना 20 सितंबर की है, लेकिन घटना वाले क्षेत्र के दूर और एकांत में स्थित होने की वजह से इस बात की खबर अधिकारियों को मिलने में देरी हुई.

Also Read:  गुजरात में 4.49 करोड़ रुपये के जाली नोट बरामद

भाषा की खबर के अनुसार,मौरिसियो ने बताया, महिला को इसलिए जिंदा जला दिया गया क्योंकि लोगों ने उस पर एक डायन होने का आरोप लगाया था. उन्होंने बताया कि समुदाय के लोगों ने महिला को लकड़ी के ढेर पर जलाया था और हत्या के कोई निशान नहीं छोड़े थे, लेकिन अधिकारी कुछ हड्डियों का पता लगाने में कामयाब रहे. उन्होंने बताया कि वह और 20 पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल पर गए और सबूत के साथ वापस आए.

Also Read:  Haunting tale of Assam’s Witch-hunt: 7 arrested for beheading woman; lack of stringent law worries activists

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here