‘टुकड़े-टुकड़े कर डालने’ की धमकी मिली – लापता जेएनयू छात्र के मुद्दे पर एबीवीपी कार्यकर्ता का आरोप

0

दिल्ली के जाने-माने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में लापता हुए एक छात्र को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के एक कार्यकर्ता ने आरोप लगाया है कि उसे धमकीभरा खत मिला है।

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व महासचिव सौरभ शर्मा ने गुरुवार को दावा किया कि यह खत झेलम छात्र होस्टल के उनके कमरे में उन्हें पहुंचाया गया। सौरभ शर्मा ने कहा, “मुझे खत मिला है। जिसमें पश्चिम बंगाल में हुई घटटनाओं का ज़िक्र है, और पूछा गया है कि मेरी हिम्मत कैसे हुई एक मुस्लिम लड़के को छूने की इसमें यह भी कहा गया है कि नजीब (अहमद) लौटे या नहीं, मेरे टुकड़े-टुकड़े कर दिए जाएंगे।”

ABVP activist
Photo: ANI

दरअसल, स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी में पढ़ने वाला नजीब अहमद अपने होस्टल में हुए झगड़े के बाद पिछले शुक्रवार से लापता है।

वामदलों से संबद्ध ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन का आरोप है कि लापता होने से पहले नजीब अहमद को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की छात्र शाखा एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने पीटा था।

भाषा की खबर के अनुसार, स्पीडपोस्ट के ज़रिए किसी शाहिद खान द्वारा भेजे गए खत में सौरभ शर्मा को गंभीर परिणाम भगतने की धमकी दी गई है. खत में लिखा है, “सौरभ शर्मा, उम्मीद है, खत मिलने के वक्त तुम कम से कम इस हालत में होगे कि तुम इसे पढ़ सको, क्योंकि हमारे लड़के पहले से तुम्हें तलाश कर रहे हैं, ताकि तुम्हारे टुकड़े-टुकड़े कर दिए जाएं लगता है, तुमने बंगाल में हुए हालिया हमलों से कोई सबक नहीं लिया है, जहां हमारे लड़कों ने तुम्हारे समुदाय के लोगों के टुकड़े-टुकड़े कर दिए थे।”

खत में यह भी लिखा है, “तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई, एक मुस्लिम लड़के को छूने की नजीब अहमद वापस ‘मिले न मिले’, लेकिन हम तुम्हें ढूंढ लेंगे और समूची एबीवीपी और जेएनयू को फूंक डालेंगे… इंतज़ार करो, जब तक वह वक्त नहीं आ जाता।”

गौरतलब है कि सौरभ शर्मा ही वह छात्र है, जिसने इसी साल संसद भवन पर हमले के दोषी अफज़ल गुरु को फांसी दिए जाने के खिलाफ 9 फरवरी को कैम्पस में आयोजित उस विवादास्पद कार्यक्रम की शिकायत दर्ज करवाई थी, जिसके दौरान कथित रूप से देश-विरोधी वारे लगाए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here