क्या स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी की ‘मर्दानगी’ पर उठाए सवाल? जानें, वायरल खबर की सच्चाई

0

सोशल मीडिया पर हमेशा चर्चा में रहने वालीं केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी फिर विवादों की वजह से सुर्खियां बटोर रही हैं। सोशल मीडिया पर एक अंग्रेजी अखबार की खबर वायरल हो रही है जिसमें दावा किया जा रहा है कि स्मृति ईरानी ने कथित तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘मर्दानगी’ पर सवाल उठाई हैं और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह की ‘मर्दानगी’ की सराहना की हैं।

(Indian Express Photo/Prem Nath Pandey/File)

दरअसल, कोलकाता स्थित समाचार पत्र ‘द टेलीग्राफ’ ने एक खबर प्रकाशित की है, जिसका शीर्षक है, “स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी की ‘मर्दानगी’ पर उठाए सवाल”, अखबार के मुताबिक 2014 लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी से मात खाने वालीं केंद्रीय मंत्री ईरानी ने अमित शाह से कांग्रेस अध्यक्ष के ‘पुरुषार्थ’ की तुलना की।

अखबार के मुताबिक, अमेठी दौरे के दौरान ईरानी ने कहा, “(बीजेपी) के अध्यक्ष अपने ‘पुरुषार्थ’ से बने हैं। राहुल गांधी अपनी माता के ‘आशीर्वाद’ से कांग्रेस के अध्यक्ष बने हैं। केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, “अमेठी का विकास राहुल गांधी के पुरुषार्थ को चुनौती है।” प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता द्विजेंद्र त्रिपाठी ने उनके बयान पर कटाक्ष करते हुए लखनऊ में कहा कि देश के लोग ईरानी की भाषा सुन रहे हैं।

यूजर्स ने अखबार पर लगाया गलत अनुवाद करने का आरोप

दरअसल, द टेलीग्राफ ने स्मृति ईरानी के ‘पुरुषार्थ’ वाले बयान को अंग्रेजी में अनुवाद कर ‘मर्दानगी’ (manhood) के रूप में पेश किया है। सोशल मीडिया पर ईरानी के समर्थक अखबार पर गलत अनुवाद करने का आरोप लगाते हुए निशाना साध रहे हैं। यूजर्स का आरोप है कि केंद्रीय मंत्री को पद से हटाने के लिए जानबूझकर एक साजिश रची जा रही है।

एक यूजर पल्लवी सिंह ने लिखा है कि इस खबर को पढ़ते ही मुझे शक हुआ। उन्होंने कहा कि ‘पुरुषार्थ’ का मतलब होता है कि वह शख्स जो अपनी मेहनत की वजह से अपना पद हासिल किया है। सिंह ने कहा कि पुरसत्तव = manhood होता है।

वहीं, एक ग्रामीण नाम के अन्य यूजर ने खबर लिखने वाले अखबार के पत्रकार के ज्ञान पर सवाल उठाते हुए लिखा कि ‘पुरुषार्थ’ का मतलब नही पता और कुछ भी बकवास कर रहे हैं। पुरुषार्थ का मतलब होता है ‘मेहनत’ और ये उसे ‘मर्दानगी’ बता रहे हैं। क्योंकि स्मृति ईरानी जी इस बार अमेठी से जीत रही हैं तो उनके खिलाफ दुष्प्रचार इस हद तक करेंगे?

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here