BJP नेता ने कहा- ‘मुसलमानों की नस्लों को बर्बाद करना चाहते हैं तो नरेंद्र मोदी के पक्ष में वोट दें’, देखिए वीडियो

1

देश में चुनावी बुखार चढ़ने के साथ ही नेताओं की भाषा का स्तर दिन-ब-दिन गिरता प्रतीत हो रहा है और उनकी जुबान फिसलने का सिलसिला जारी है। यूपी के बाराबंकी के वरिष्ठ बीजपी नेता एवं पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने गुरुवार को मुस्लिमों को लेकर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि चीन से मशीन मंगवाकर मुस्लिमों की शेविंग करवा दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि शेविंग करा दी गई तो सारे मुसलमान हिंदू धर्म में शामिल हो जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि मुस्लिमों की नस्लों को बर्बाद करने के लिए पीएम मोदी को चुनें।

श्रीवास्तव ने बाराबंकी से बीजेपी प्रत्याशी उपेंद्र रावत के नामांकन से पहले एक सभा में कहा, ”मुस्लिमों की नस्लों को बर्बाद करने के लिए नरेंद्र मोदी को चुनें। प्रधानमंत्री मोदी ने पांच साल में मुसलमानों का मनोबल तोड़ा है। अब वोट के जरिये मुस्लिम सत्ता हथियाना चाहते हैं, लेकिन कामयाब नहीं होंगे।” उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद चीन से मशीन मंगवाकर 10-12 हजार मुस्लिमों की हजामत कराई जाएगी। हजामत कराकर सारे मुस्लिम हिंदू धर्म में शामिल हो जाएंगे।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, इस दौरान मंच पर विनय कटियार जैसे वरिष्ठ नेता समेत कई पार्टी पदाधिकारी भी मंच पर मौजूद थे। श्रीवास्तव ने यह भी कहा कि बंटवारे के बाद भी मुस्लिम लोग भारत की आबादी बढ़ा रहे हैं। देश के हिंदुओं को अब एक होने की जरूरत है। श्रीवास्तव बाराबंकी की नवाबगंज नगरपालिका के अध्यक्ष रह चुके हैं। इस वक्त उनकी पत्नी इस पद पर आसीन हैं। वह पहले भी विवादित बयान देते रहे हैं।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के दौरान नेताओं की बयानबाजी के खिलाफ चुनाव आयोग ने कार्रवाई भी की है, इसके बावजूद बदजुबानी रुक नहीं रही है। चुनाव आयोग ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए एक ही दिन में चार दिग्गज नेताओं पर बैन लगा दिया था। आयोग ने भड़काऊ भाषण के लिए पहले यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ और बसपा मुखिया मायवती पर प्रतिबंध लगाया। वहीं, शाम तक एक और बड़ी कार्रवाई करते हुए आयोग ने सपा नेता आजम खान और केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी थी।

1 COMMENT

  1. एक और प्रमाण है इस बात का कि देश में कानून का राज (Rule of Law) खत्म हो चुका है और कें चु आ नामक कोई संस्था भारत में अस्तित्व मे नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here