गोरखपुर हादसा: 60 से अधिक मासूमों की मौत पर सहवाग का ट्वीट देख भड़के लोग, लोगों ने बताया BJP का चमचा

0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्षेत्र गोरखपुर की बदहाल व्यवस्था को दर्शाने वाली घटना के सामने आने से हड़कंप मच गया है। बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में 48 घंटे के दौरान 33 और पिछले छह दिनों में 64 मासूमों की मौत ने सबको झकझोर दिया है। लेकिन सरकार और प्रशासन अपनी किसी भी कमी और लापरवाही की बात से पल्ला झाड़ लिया है। हालांकि, मेडिकल कालेज के प्राचार्य को निलंबित कर अपनी जवाबदेही को दिखाया है।

(Photo by Parveen Kumar/Hindustan Times via Getty Images)

इस त्रासदी पर टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाह ने एक ऐसा ट्वीट किया है, जिसे देखकर यूजर्स भड़क गए और उन्हें ट्रोल किया जा रहा है।

दरअसल, सहवाग ने मासूमों की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘गोरखपुर में मासूमों की मौत की खबर से बहुत दु:ख हुआ। अब तक इंसेफेलाइटिस की वजह से 50 हजार से अधिक मौत हो चुकी है। 1978 में जब मेरा जन्म हुआ था तब पहली बार इस बीमारी के बारे में पता चला। अभी तक हम इस बीमारी से मासूमों को बचाने की तरीका नहीं ढूंढ़ पाए। यह दिल तोड़ने वाली बात है!’

सहवाग के इस ट्वीट पर कई यूजर्स उनकी आलोचना कर रहे हैं। लोगों का आरोप है कि सहवाग ने अपने ट्वीट में राज्य की बीजेपी सरकार का नाम नहीं लिया। इसके साथ ही लोगों ने सहवाग को शर्म करने की नसीहत भी दे डाली। एक यूजर्स ने लिखा मच्छरों के कारण हुई है बच्चों को मौत योगी के कारण नहीं… शर्म करो।

Also Read:  कांग्रेसी नेताओं ने बांधे राहुल गांधी की तारीफों के पुल, मनमोहन बोले- कांग्रेस के 'डार्लिंग' हैं राहुल, सिद्धू ने बताया 'बब्बर शेर'

वहीं, एक अन्य यूजर्स ने लिखा, ‘दिखाई नहीं देता या सच देखने की आदत नहीं है, पूरे देश को पता है बच्चे ऑक्सिजन की कमी की वजह से मरे हैं। दलाली बंद करो।’ एक अन्य यूजर्स ने नाराजगी व्यक्त करते हुए लिखा, ‘सोचिये…अगर 70 बच्चों मे एक बच्चा आपका होता..? सहम गये ना.?? आपके नही, पर वो बच्चे किसी के तो थे…योगी और मोदी समर्थन मे अंधे तो मत बनो’

Congress advt 2

हालांकि, लोगों की नाराजगी को देखते हुए सहवाग ने एक और ट्वीट कर यूजर्स को शांत कराने की कोशिश किए। सहवाग ने एक टैक्स्ट फोटो के साथ ट्वीट कर लिखा है, ‘देश के सभी नागरिकों की जिंदगी मायने रखनी चाहिए। मानव जीवन हमेशा ही दूसरी चीजों से अधिक मूल्यवान होना चाहिए।’

Also Read:  असम: आतंकियों को आर्थिक मदद देने के मामले में BJP नेता समेत तीन को उम्रकैद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here