सहवाग बोले- “धोनी को 2-3 मैचों के लिए प्रतिबंधित किया जाना चाहिए था”, जानें क्या है पूरा मामला?

0

क्रिकेट के मैदान में तमाम विपरित परिस्थितयों के बावजूद भी शांत रहने वाले कैप्टन कूल के नाम से मशहूर चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी गुरुवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण में राजस्थान के खिलाफ खेले गए मैच में अंपायर के फैसले के खिलाफ डगआउट से मैदान पर आ गए थे। इसके कारण धोनी को काफी आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है। इस गर्मागर्म बहस के बाद मैच रेफरी ने उन्हें आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी मानते हुए मैच फीस के 50 फीसदी का जुर्माना लगाया था, लेकिन कुछ भारतीय वरिष्ठ खिलाड़ी इस सजा से खुश नहीं हैं।

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आईपीएल के नियमों का उल्लंघन करने के कारण दो से तीन मैचों का प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए था। सहवाग का मानना ​​है कि आईपीएल मैच के दौरान चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान धोनी को अंपायर उल्हास गंधे से मैदान पर बहस करने के मामले में आसानी से छोड़ दिया गया, जबकि उन पर ‘दो से तीन मैचों का प्रतिबंध’ लगाकर उदाहरण पेश किया जाना चाहिए था।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, सहवाग ने ‘क्रिकबज’ वेबसाइट से कहा, ‘‘मुझे लगता है धोनी को आसानी से छोड़ दिया गया और उन्हें 2-3 मैचों के लिए प्रतिबंधित किया जाना चाहिए था। क्योंकि अगर उन्होंने आज ऐसा किया है तो कोई दूसरा क्रिकेटर कल ऐसा कर सकता है। ऐसे में अंपायर का क्या महत्व रह जाएगा।’’

सहवाग ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि उन्हें आईपीएल के कुछ मैचों से प्रतिबंधित किया जाना चाहिए था जिससे उदाहरण पेश हो सके। मैदान में उतरने की जगह उन्हें बाहर रह कर चौथे अंपायर के वाकी टाकी से बात करनी चाहिए थी।’’ बता दें कि धोनी गुरुवार को राजस्थान रायल्स के खिलाफ मैच के दौरान अंपायर उल्हास गंधे के फैसले को चुनौती देने डगआउट से निकलकर मैदान पर आ गए।

मैच के दौरान मैदानी अंपायर से बहस करने के बावजूद प्रतिबंध से बच गए, लेकिन उन्हें मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना देना पड़ा। धोनी की इस हरकत लभगभ सभी ने आलोचना कि लेकिन सहवाग पहले बड़े भारतीय खिलाड़ी है जिन्होंने उनकी निलंबन की मांग की।

गांगुली ने किया बचाव

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने धोनी के मैदान पर अंपायरों के साथ बहस का बचाव करते हुए कहा कि हर कोई मनुष्य है। ऐसा संभवत: पहली बार हुआ जब ‘कैप्टन कूल’ ने अपना आपा खोया और वह गुरूवार की रात राजस्थान रायल्स के खिलाफ अंपायर उल्हास गांधे के फैसले को चुनौती देने डगआउट से निकलकर मैदान पर आ गए। जब इस विवाद के बारे में गांगुली से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘हर कोई मनुष्य है। लेकिन इससे उनकी प्रतिस्पर्धा दिखती है। यह शानदार है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here