मेरे खिलाफ नफरत को बढ़ावा देने के लिए विरेंदर सहवाग का शुक्रिया- गुरमेहर कौर

0

एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन शुरू करके लगातार चर्चा में बनी हुई करगिल शहीद की बेटी और दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर ने कहा है कि पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग के ट्वीट के बाद उनका दिल टूट गया है। उन्होंने यह भी कहा कि वह अभियान से खुद को अलग कर रही हैं।

मेरे खिलाफ नफरत को भड़काने के लिए
photo- ANI

गुरमेहर ने मंगलवार सुबह ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी दी और इस कैंपेन में शामिल लोगों को आगे की लड़ाई के लिए शुभकामनाएं भी दीं। वहीं, सोशल मीडिया पर एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन चलाने के बाद उन्हें दुष्कर्म की धमकियां मिलने लगी है। उसकी इस घोषणा के कुछ घंटों बाद पुलिस ने रेप की धमकी को लेकर की गई शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली।

एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान गुरमेहर ने कहा कि विरेंद्र सहवाग के ट्वीट ने उनका दिल तोड़ दिया। गुरमेहर कौर ने कहा, “सहवाग को मैं बचपन से खेलते हुए देखती आ रही हूं, उनसे ऐसी उम्मीद नहीं थी। कौर ने कहा कि ‘मुझे मिल रही नफरत को और भड़काने के लिए मैं विरेंदर सहवाग का धन्‍यवाद करती हूं। वहीं ख़बर यह भी सामने आई है कि, इस पूरे मामले पर विवाद बढ़ता देख गुरमेहर कौर ने खुद को कैम्पेन से लगा कर लिया है।

मैं गुज़ारिश करती हूं कि मुझे अकेला छोड़ दो मुझे जो कहना था, कह चुकी हूं।” गुरमेहर ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया,”मैं इस कैम्पेन से खुद को अलग कर रही हूं। हर किसी को शुभकामनाएं। उन्होंने आगे कहा, “मैं काफी कुछ झेल चुकी हूं और 20 साल की उमर में इससे ज्यादा नहीं झेल सकती| ये अभियान छात्रों को लेकर था, मेरे बारे में नहीं। जो लोग मेरी बहादुरी और साहस पर सवाल उठा रहे हैं, उनसे कहना चाहती हूं कि मैंने ज़रूरत से ज़्यादा ही साबित कर दिया है।”

 

बता दें कि, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और सीएम अरविंद केजरीवाल ने गुरमेहर कौर के समर्थन में ट्वीट किए। वहीं दूसरी ओर खिलाड़ी भी इस दंगल में कूदे हुए हैं। बबीता फोगाट ने गुरमेहर के खिलाफ ट्वीट करते हुए लिखा था कि जो अपने जो अपने देश के हक में बात नहीं कर सकती उसके हक में बात करना ठीक है क्या?

 

बता दें कि, पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने एक फ़ोटो ट्वीट कर शहीद की बेटी पर तंज कसा है, बैट में है दम! इस ट्वीट के साथ वीरेंद्र सहवाग ने एक फोटो भी शेयर की है जिसमें लिखा है कि दो बार तिहरा शतक मैंने नहीं, मेरे बैट ने लगाया।

बता दें कि, दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में हिंसक झड़पों के कुछ दिन बाद लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा और कारगिल शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने सोशल मीडिया पर एक अभियान शुरू किया था, जिसका नाम है- ‘मैं एबीवीपी से नहीं डरती।’ यह अभियान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। वहीं, सोशल मीडिया पर एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन चलाने के बाद उन्हें दुष्कर्म की धमकियां मिलने लगी थी।

आपको बता दें कि, इसी मामले से जुड़े विवाद पर ‘जनता का रिपोर्टर’ के एडिटर-इन-चीफ रिफत जावेद ने अपने खास कार्यक्रम ‘Speak Up India’ के पहले एडिशन में बताया कि गुरमेहर का मन प्रदूषित होने की बात एक जिम्मेदार मंत्री किस प्रकार से कर सकता है। जबकि बलात्कार की धमकियां देने वाले AVBP के लोगों को मंत्री महोदय कुछ भी नसीहत देने की बजाय उल्टे गुरमेहर पर ही आरोप मढ़ रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here