जम्मू कश्मीर: महिला सुरक्षाकर्मी से हाथ मिलाते कश्मीरी बच्चे की तस्वीर ने जीता लोगों का दिल

0

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुवाई वाली केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के कई प्रावधान हटाए जाने के बाद से राज्य में चारों तरफ हलचल मची हुई है। सरकार के फैसले के बाद लोग लगातार सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कई लोग इसकी तारीफ कर रहे हैं तो कई लोगों को ये बड़ी गलती नजर आ रहा है। इसके अलावा कई लोग कश्मीर के लोगों के सलामती की दुआ कर रहे हैं।

जम्मू कश्मीर

वहीं घाटी में 370 हटाए जाने से माहौल गरम है, जिसके लिए चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। इस बीच, जम्मू और कश्मीर में सीआरपीएफ की एक महिला कर्मी से हाथ मिलाते एक बच्चे की तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है, और हर तरफ इसकी सराहना की जा रही है। कई ट्विटर यूजर्स ने इस प्यारी तस्वीर की सराहना की।इस तस्वीर को घाटी में अमन और शांति की उम्मीद के तौर पर लिया जा रहा है।

इस फोटो को दूरदर्शन और प्रसार भारती ने गुरुवार को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए लिखा, “इन मिलते हाथों में है ‘मुस्कुराहट औऱ विश्वास’ का अटूट संगम। #JammuKashmir की एक सुखद तस्वीर।” इस फोटो को लोग काफी रिट्वीट भी कर रहे हैं और इस फोटो की तारीफ कर रहे हैं।

एक ट्विटर यूजर ने कहा, “यह वास्तविक भारत है। हम इस भावना को सलाम करते हैं। समय कश्मीर में जरूरी बदलाव लाएगा।” एक अन्य यूजर ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया, “यह तस्वीर हमें बहुत समय तक याद रहेगी। सीआरपीएफ के महिला और पुरुष कर्मियों को सलाम।”

सीआरपीएफ ने भी लोगों की प्रतिक्रिया के साथ अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर यह तस्वीर शेयर की है। इसके बाद सीआरपीएफ इंडिया ने एक और तस्वीर शेयर की, जिसमें बच्चा महिला सीआरपीएफ कर्मी को सलाम कर रहा है।

Posted by CRPF on Wednesday, August 7, 2019

गौरतलब है कि, हाल ही में केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर को लेकर कुछ बेहद अहम फैसले लिए हैं जिनके अनुसार धारा 370 अब प्रभावी नहीं रहेगी और राज्य को लद्दाख और जम्मू कश्मीर दो हिस्सों में बांटा गया है। हाल ही में राज्यसभा और लोकसभा में इसे लेकर बिल पास हुए हैं। पुनर्गठन और धारा 370 को हटाने जैसे बड़े फैसले लेने के बाद अब सरकार घाटी के लोगों का विश्वास जीतने में जुटी है।

धारा 370 हटने के बाद पीएम मोदी ने हाल ही में नए, विकसित और समृद्ध जम्मू-कश्मीर के लिए अपना विजन बताया था। अनुच्छेद 370 खत्म करने के बाद पहली बार भाषण देते हुए उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 ने जम्मू और कश्मीर के लोगों को पूरे देश के लिए बनाए गए केंद्रीय कानून का लाभ लेने से रोक रखा था। शिक्षा का अधिकार (आरटीई) अधिनियम के बारे में बात करते हुए उन्होंने सवाल किया कि राज्य के बच्चों को इसके लाभों से क्यों वंचित रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here