इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में तोड़फोड़ और आगजनी, छात्रों ने पुलिस पर फेंके बम, चार गिरफ्तार

0

देश की टॉप यूनिवर्सिटी में से एक इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में शुक्रवार(28 अप्रैल) को हॉस्टल खाली कराए जाने और कथित भ्रष्टाचार को लेकर छात्रों ने जमकर हंगामा किया। बवाल के दौरान छात्रों ने तोड़फोड़, आगजनी और पुलिस पर देसी बम और पत्थर भी फेंके। इस दौरान छात्रों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने इस मामले में चार छात्रों को गिरफ्तार किया है। हालांकि, पुलिस ने अर्द्धसैनिक बलों की मदद से स्थिति पर काबू पा लिया है। बवाल के बाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ अध्यक्ष रोहित मिश्र और उपाध्यक्ष आदिल हमजा समेत चार छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया है। फिलहाल स्थिति सामान्य है और मौके पर पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दी गई है।

दरअसल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों को पहले 25 अप्रैल तक खाली कराने को कहा था, लेकिन बीते गुरुवार को इसकी समय सीमा बढ़कर 25 मई कर दी। जबकि छात्र हॉस्टल खाली कराए जाने का विरोध कर रहे हैं।

Also Read:  हिंदू-मुसलमान आपस में लड़ते नहीं हैं, बल्कि लड़ाए जाते हैं: सोनिया

दरअसल, इसी मुद्दे पर शुक्रवार को भारी संख्या में छात्र वीसी से मिलने यूनिवर्सिटी कैंपस स्थ‍ित गेस्ट हाउस गए थे। जहां गवर्निंग काउंसिल की बैठक चल रही थी। छात्र कुलपति से मिलना चाहते थे, लेकिन सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों ने रोक दिया। जिसके बाद छात्रों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प शुरू हो गई। विवाद इतना बढ़ गया कि छात्रों ने तोडफ़ोड़ और बमबारी शुरू कर दी।

जिसके बाद विश्वविद्यालय में चल रही एक बैठक में व्यवधान पैदा करने के आरोप में पुलिस ने चार छात्र नेताओं को गिरफ्तार कर लिया। इस गिरफ्तारी के बाद आक्रोशित छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में जमकर तोड़फोड़ की। बता दें कि इस मुद्दे को लेकर छात्र काफी दिनों से आंदोलन भी कर रहे हैं। लेकिन हॉस्टल खाली कराने समेत विभिन्न मांगों को लेकर चल रहा छात्रों का आंदोलन शुक्रवार को बवाल का रूप ले लिया।

Also Read:  CM बनने के बाद पहली बार अयोध्या पहुंच कर योगी आदित्‍यनाथ ने किए रामलला के दर्शन

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शलभ माथुर के मुताबिक, इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ के पदाधिकारियों की अगुवाई में शुक्रवार दोपहर छात्र नेताओं का एक समूह विश्वविद्यालय गेस्ट हाउस के पास एकत्र हो गया। उस गेस्ट हाउस में एक बैठक चल रही थी। छात्र नेताओं ने विश्वविद्यालय में कथित वित्तीय अनियमितताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी की।

माथुर ने कहा कि इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश पर अवैध रूप से रह रहे छात्रों से छात्रावास खाली कराने के अभियान के चलते परिसर में फैली अशांति को देखते हुए कुछ दिनों पूर्व यहां धारा 144 लागू की गई थी। उन्होंने बताया कि सूचना मिली थी कि बिना अनुमति बड़ी संख्या में छात्र गेस्ट हाउस के बाहर जमा हुए हैं। इस पर पुलिस दल घटनास्थल पर पहुंचा। ज्यादातर प्रदर्शनकारी भाग गए, लेकिन उनमें से चार को गिरफ्तार कर लिया।

Also Read:  जन्मदिन पर सनी लियोनी ने दिया किस का तोहफ़ा

माथुर ने कहा इस गिरफ्तारी पर छात्र भड़क गए और इनमें से कुछ हिंसक हो गए और पुलिस कर्मियों पर पथराव किया एवं पास खड़े वाहनों के शीशे तोड़ दिए। उन्होंने एक छात्रावास के पास खड़ी बस में आग भी लगा दी। रैपिड एक्शन फोर्स और पीएसी के जवानों ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया। उन्होंने कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here