यूपी: फतेहपुर सीकरी के मंगोली गांव में सिंचाई की सुविधा नहीं होने से नाराज ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव का किया बहिष्कार, 2 बजे तक किसी ने नहीं डाला वोट

0

आज यानी गुरुवार (18 अप्रैल) को लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान सुबह से जारी है। लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी की 95 सीटों के लिए मतदान गुरुवार सुबह सात बजे से शुरू हुआ। इस चरण में कई जाने-माने चेहरों और दिग्गज नेताओं का भाग्य तय होगा। दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 लोकसभा सीटों पर मतदान होना था। लेकिन, तमिलनाडु के वेल्लूर में आयकर छापे में 11 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी बरामद होने के बाद मतदान रद्द कर दिया गया है।

Photo: ANI

इस बीच उत्तर प्रदेश से एक हैरान करने वाली खबर आ रही है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, फतेहपुर सीकरी के मंगोली कला के ग्रामीणों ने गांव में पर्याप्त सिंचाई की सुविधाओं की कमी के कारण लोकसभा चुनाव 2019 का बहिष्कार कर दिया है। बूथ संख्या 41 के मतदान अधिकारी (तस्वीर 3 में दिख रहे अधिकारी) ने कहा कि अब तक (दोपहर 2 बजे तक) किसी भी शख्स ने मतदान नहीं किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये ग्रामीण सिंचाई की सहीं सुविधा नहीं होने से नाराज हैं।

फतेहपुर सीकरी सीट पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पार्टी प्रत्याशी राज बब्बर की टक्कर भारतीय जनता पार्टी यानी बीजेपी के राजकुमार चाहर और गठबंधन के प्रत्याशी भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित से है। बब्बर वर्ष 2009 में इसी सीट से बहुत मामूली अंतर से चुनाव हार गए थे।

यूपी की 8 सीटों पर हो रहा मतदान

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर गुरुवार को रहे मतदान में सेलेब्रिटी चेहरों समेत कई राजनीतिक दिग्गजों का सियासी भाग्य तय होगा। दूसरे चरण में राज्य की आठ सीटों नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा तथा फतेहपुर के लिए वोट डाला जा रहा है। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम छह बजे तक होगा।

कई सियासी दिग्गजों के भाग्य का होगा फैसला

दूसरे चरण का चुनाव कई सियासी दिग्गजों का भाग्य तय करेगा। इनमें मथुरा से बीजेपी प्रत्याशी हेमा मालिनी, फतेहपुर सीकरी से कांग्रेस उम्मीदवार राज बब्बर, आगरा से प्रदेश के कैबिनेट मंत्री एस.पी. सिंह बघेल और हाथरस से पूर्व केंद्रीय मंत्री रामजी लाल सुमन प्रमुख हैं। मथुरा में मौजूदा सांसद हेमा मालिनी का मुकाबला महागठबंधन के प्रत्याशी रालोद के नरेंद्र सिंह और कांग्रेस के महेश पाठक से है। हेमा ने वर्ष 2014 में मथुरा सीट आसानी से जीती थी, लेकिन इस बार उन्हें प्रतिद्वंद्वियों से कड़ी टक्कर मिलने की सम्भावना है।

वहीं आगरा से प्रदेश के लघु सिंचाई मंत्री एस. पी. सिंह बघेल बीजेपी प्रत्याशी के रूप में मैदान में हैं। उनका मुकाबला गठबंधन के प्रत्याशी मनोज सोनी तथा कांग्रेस की प्रीता हरित से है। हाथरस से गठबंधन ने चार बार सांसद रह चुके पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामजी लाल सुमन को उम्मीदवार बनाया है। यहां उनके मुकाबले इगलास क्षेत्र से मौजूदा बीजेपी विधायक राजवीर सिंह और कांग्रेस के त्रिलोकी नाथ दिवाकर ताल ठोंक रहे हैं।

अलीगढ़ सीट से बीजेपी के मौजूदा सांसद सतीश गौतम एक बार फिर इसी पार्टी के टिकट पर मैदान में हैं। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को निशाने पर रखकर अक्सर सुर्खियां बटोरने वाले गौतम का मुकाबला गठबंधन के प्रत्याशी अजीत बालियान और कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व सांसद बृजेंद्र सिंह से है। बुलंदशहर सीट पर बीजेपी के मौजूदा सांसद और प्रत्याशी डॉक्टर भोला सिंह का मुकाबला गठबंधन प्रत्याशी बसपा के योगेश वर्मा और कांग्रेस के बंसी पहाड़िया से है।

वहीं, अमरोहा में बीजेपी के वर्तमान सांसद कंवर सिंह तंवर की टक्कर गठबंधन प्रत्याशी बसपा के दानिश अली तथा कांग्रेस उम्मीदवार सचिन चौधरी से है। नगीना सीट से बीजेपी के मौजूदा सांसद डॉक्टर यशवंत सिंह एक बार फिर मैदान में हैं। उनका मुकाबला पूर्व सांसद और तीन बार विधायक रह चुकी ओमवती से है। इसके अलावा गठबंधन की तरफ से बसपा के गिरीश चंद्र भी उनके प्रमुख प्रतिद्वंद्वी हैं। मतों की गिनती 23 मई को की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here