विजेंदर सिंह के पंच से चीन का मुक्केबाज ढेर, चीनी बॉक्सर को खिताब लौटा शांति का दिया संदेश

0

सात मुकाबले नॉकआउट जीतने वाले विजेंदर सिंह के लिए शनिवार(5 अगस्त) का मुकाबला उम्मीद से कहीं मुश्किल साबित हुआ। अमिताभ बच्चन समेत कई बॉलीवुड सितारों से खचाखच भरे मुंबई के स्टेडियम में मौजूद करीब पांच हजार लोगों को विजेंदर से एक और नॉकआउट की उम्मीद थी।

(Getty Images)

मगर चीनी मुक्केबाज जुल्पिकार मैमतअली ने आखिरी राउंड तक विजेंदर को कड़ी टक्कर दी। एक बार तो लगा कि कहीं विजेंदर को खिताब गंवाना न पड़े। मगर नाक से खून निकलने के बावजूद वह अंत तक टिके रहे। और आखिरकार चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मेइमेइतियाली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीत लिया।

इस जीत के बाद दोनों देशों में शांति बहाल की मिसाल कायम करते हुए विजेंदर ने चीनी खिलाड़ी को खिलात लौटा दिया इसके साथ ही उन्होंने भारत-चीन सीमा गतिरोध में शांति की अपील की। विजेंदर के प्रशंसकों के लिये यह दोहरी खुशी का पल था, क्योंकि उन्होंने चीनी मुक्केबाज से डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट खिताब भी जीता।

ओलंपिक में कांस्य पद जीतने वाले विजेंदर ने मुकाबले के बाद कहा, ‘‘मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं। मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं और शांति का संदेश सबसे महत्वपूर्ण है।’’ भारत एवं चीन के बीच पिछले कुछ सप्ताह से सिक्किम सेक्टर में सीमा पर गतिरोध की स्थिति है।

विजेंदर के पेशेवर कैरियर में यह लगातार नौवी जीत थी। विजेंदर ने मुकाबले से पहले कहा था, ‘‘चीनी उत्पाद अधिक देर नहीं चलते’’ लेकिन मुकाबला समाप्त होने के बाद अपने प्रतिद्वंद्वी से प्रभावित भारतीय मुक्केबाज ने कहा, ‘‘मुझे ऐसा लगता था कि चीनी मुक्केबाज बहुत देर तक नहीं टिक पाएंगे लेकिन जिस तरह वह खेले, उन्होंने मुझे हैरान कर दिया।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here