करमबीर सिंह को अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त किए जाने के खिलाफ अदालत पहुंचे वाइस एडमिरल बिमल वर्मा

0

भारतीय नौसेना प्रमुख की नियुक्ति में वरिष्ठता को नजरंदाज किए जाने को लेकर विवाद हो गया है। वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगले नौसेना प्रमुख बनाए जाने को सैन्य अदालत में चुनौती दी गई है। वाइस एडमिरल बिमल वर्मा ने वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगला नेवी चीफ बनाए जाने के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की है। वर्मा का आरोप है कि करमबीर सिंह की नियुक्ति में वरिष्ठता के पहलू को नजरअंदाज किया गया है।वाइस एडमिरल विमल वर्मा ने सोमवार (8 अप्रैल) को इस मामले में सशस्त्र बल न्यायाधिकरण में गुहार लगाई है।

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा (बाएं) और वाइस एडमिरल करमबीर सिंह (दाएं)

 

उल्लेखनीय है कि सरकार ने गत 23 मार्च को वाइस एडमिरल कर्मबीर सिंह को नया नौसेना प्रमुख नियुक्त करने की घोषणा की थी। वह एडमिरल सुनील लांबा का स्थान लेंगे जो 31 मई को सेवानिवृत हो रहे हैं। वाइस एडमिरल वर्मा के इस नियुक्ति को लेकर अदालत पहुंचने पर तीन साल पहले सेना प्रमुख की नियुक्ति पर हुआ विवाद एक बार फिर ताजा हो गया है। उस समय भी सरकार ने दो वरिष्ठ ले. जनरलों की वरिष्ठता को नजरंदाज कर ले. जनरल बिपिन रावत को सेना प्रमुख नियुक्त किया था।

वाइस एडमिरल वर्मा पूर्व एडमिरल निर्मल वर्मा के भाई हैं। एडमिरल निर्मल वर्मा 2009 से 2012 के बीच नौसेना प्रमुख थे। समाचार एजेंसी यूनिवार्ता के मुताबिक, वाइस एडमिरल वर्मा को 1979 में नौसेना में कमीशन मिला था, जबकि वाइस एडमिरल सिंह को 198० में कमीशन मिला था और वह लगभग 6 महीने वरिष्ठ हैं। वाइस एडमिरल सिंह नौसेना की पूर्वी कमान के प्रमुख हैं और वह नौसेना प्रमुख बनने वाले पहले हेलिकॉप्टर पायलट हैं। वाइस एडमिरल वर्मा ने अपनी याचिका में उनसे कनिष्ठ अधिकारी को नौसेना प्रमुख बनाए जाने के कारण के बारे में जानना चाहा है।

बता दें कि नए नौसना प्रमुख के रूप में नियुक्त हुए एडमिरल करमबीर सिंह ने 36 साल के सफर में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाई हैं। उन्होंने नेवल मिसाइल का नेतृत्व किया। इसके साथ ही कोस्ट गार्ड शिप और गाइडेड मिसाइल विध्वंसकों की भी अगुआई की है। वहीं, वर्मा को अपनी सेवाओं के लिए अति विशिष्ट सेवा मेडल मिल चुका है। वर्तमान नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा मई के अंत में रिटायर हो रहे हैं। अंडमान-निकोबार कमांड के चीफ वाइस एडमिरल बिमल वर्मा इस पद के दावेदारों में थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here