राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के नोटिस को वेंकैया नायडू ने लोकसभा अध्यक्ष के पास भेजा, कांग्रेस अध्यक्ष ने अरुण जेटली को कहा था ‘जेटलाई’

0

राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने शनिवार (6 जनवरी) को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के नोटिस को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के पास भेज दिया। दरअसल, अपने एक ट्वीट में राहुल ने देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली के सरनेम को बिगाड़ कर ‘जेटलाई’ (Jaitlie) लिखकर तंज कसा था। इसके विरोध में गुरुवार को राज्यसभा में राहुल गांधी के खिलाफ नोटिस दिया गया। नोटिस में राहुल की इस हरकत को आपत्तिजनक बताया गया था।दरअसल, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर वित्त मंत्री की सफाई के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 27 दिसंबर 2017 को वित्त मंत्री पर तंज कसते हुए ट्वीट कर जेटली (Jaitley) को जेटलाई (Jaitlie) लिखकर हमला बोला था। इस पर संसद सत्र के दौरान राज्यसभा में बीजेपी सांसद भूपेंद्र यादव ने राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था।

न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार नायडू ने बीजेपी सदस्य भूपेन्द्र यादव द्वारा राहुल के खिलाफ रखे विशेषाधिकार हनन के नोटिस को आगे विचार के लिए महाजन के पास भेजा है। नायडू ने नोटिस में आधार बनाए गए राहुल के एक ट्वीट को प्रथमदृष्टया विशेषाधिकार हनन के मामले के दायरे में मानते हुए आगे की कार्रवाई के लिए लोकसभा अध्यक्ष के पास भेजा है।

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, गुजरात चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को लेकर दिए गए बयान पर पिछले कई दिनों से संसद में जारी घमासान 27 दिसंबर को समाप्त हो गया। इस मामले को विराम देने की कोशिश करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्यसभा में सफाई देते हुए कहा कि पीएम मोदी की ऐसी कोई मंशा नहीं थी कि जिससे पूर्व पीएम मनमोहन या फिर पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की देशभक्ति पर कोई सवाल खड़ा होता हो।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर अरुण जेटली की सफाई के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 27 दिसंबर को तंज कसते हुए हमला बोला। राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘प्रिय जेटली जी, भारत को यह याद दिलाने के लिए आपका शुक्रिया कि हमारे प्रधानमंत्री जो कुछ कहते हैं उसका कभी कोई मतलब नहीं होता या जो उनका मतलब होता है वह कहते नहीं हैं।’’

इस ट्वीट में राहुल ने #BJPLies हैशटैग के साथ जेटली के नाम के साथ भी कलात्मक तरीके से खेल खेला। राहुल ने जेटली (Jaitley) के उनके नाम की स्पेलिंग बदलते हुए उसे Jaitlie (जेटलाई) यानी ‘जेट झूठ’ लिखा है। राहुल ने अपने ट्वीट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें पीएम मोदी ने गुजरात विधानसभा चुनाव में पाकिस्तानी साजिश की बात कही थी। साथ ही इस ट्वीट के साथ जेटली की ओर से राज्यसभा में दी गई सफाई वाले बयान को भी शेयर किया।

जेटली के नाम की स्पेलिंग गलत लिखने को बीजेपी सांसद भूपेंद्र यादव ने वित्त मंत्री का अपमान बताते हुए राहुल के ट्वीट पर गुरुवार को राज्यसभा में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाए। यादव ने राज्यसभा में कहा कि राहुल ने सदन में बीजेपी के नेता जेटली का अपमान किया है। यादव ने अपनी बात रखते हुए कहा कि इस सदन के लोगों की अपनी गरिमा है, जिसको राहुल गांधी द्वारा धूमिल करने की कोशिश की गई।

यादव ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वित्त मंत्री जेटली के नाम का मजाक उड़ाया, वह विशेषाधिकारों के हनन के अंतर्गत आता है। उन्होंने राज्यसभा में 1954 के एनसी चटर्जी मामले का जिक्र करते हुए राहुल-जेटली के मामले को वैसा ही बताया। यादव ने राहुल को नोटिस भेजने की मांग की है। दरअसल, राहुल लोकसभा सांसद हैं और उनके खिलाफ ऐसी कार्रवाई इसी सदन में हो सकती है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here