वाराणसी फ्लाईओवर हादसा: अब शवों की हो रही है सौदेबाजी, परिजनों का आरोप एक पोस्टमार्टम के बदले मांगे जा रहे 300 रुपये, देखिए वीडियो

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मंगलवार (15 मई) को हुए फ्लाईओवर हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई। फ्लाईओवर वाराणसी कैंट रेलवे स्टेुशन के समीप बन रहा था, इसका एक हिस्सा अचानक से भरभरा कर गिर गया था। इस हादसे में मरने वालों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है। क्योंकि सात घायलों में से दो की हालत गंभीर बनी हुई है, जबकि तीन लोगों को मलबे के नीचे से जिंदा निकाला गया है।

लेकिन, इस हादसे के बाद इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। जिसका एक वीडियो भी सामने आया है, वीडियो में मृतकों के परिजन पैसे वसूलने का आरोप लगा रहे हैं। ख़बरों के मुताबिक, मामला मीडिया में आने के बाद जिलाधिकारी ने आरोपी स्वीपर को निलम्बित कर दिया है।

वाराणसी

एबीपी न्यूज़ के मुताबिक, इस हादसे में एक ऐसा परिवार भी शामिल है जिसके पांच सदस्यों को अपनी जानें गंवानी पड़ी। यूपी के जौनपुर के इस परिवार ने वीडियो बनाकर आरोप लगाया है कि बीएचयू में पोस्टमार्टम करने के लिए हर लाश पर 300 रुपये की मांग की गई। शव को पोर्टमार्टम हाउस में अंदर ले जाने के लिए कर्मचारियों ने परिजनों से पैसे मांगे। एक सख्श ने अस्पताल में घटी इस घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग को सबूत के तौर पर पेश किया है और कहा है कि एक लाश के पोस्टमार्टम के लिए 300 रुपए की मांग की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जिला प्रशासन इसे लेकर बिल्कुल उदासीन दिखा। मामले को लेकर जब यहां के डीएम से बात की गई तब वो इससे पल्ला झाड़ते नज़र आए। उन्होंने पूछा कि उनके वहां होते हुए ऐसे आरोप कौन लगा रहा है। साथ ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जैसा रुटीन बयान देकर वो मामले को रफा-दफा करते नज़र आए।

एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए अपने परिवार के पांच सदस्यों को खो चुके जीतेंद्र यादव का कहना है कि ये संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है। उन्होंने कहा कि मानवता मर चुकी है और इस घटना के बाद उन्हें लगता है कि प्रजातंत्र की भी मौत हो गई है।

बता दें कि, वाराणसी पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र है जिसे जापान के क्योटो की तर्ज पर विकसित करने का वादा किया था। ऐसे में एक फ्लाईओवर ब्रिज के गिरने के बाद 18 लोगों की मौत होना और लाश के पोस्टमार्टम के लिए 300 रुपए मांगा जाना यह बेहद ही शर्मनाक है।

बता दें कि, उत्तर प्रदेश के वाराणसी के कैंट में मंगलवार शाम एक दर्दनाक हादसा हुआ। यहां निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिर गया। इस हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई है, जबकी कई लोग घायल हो गए। प्रशासन ने पुल गिरने के कुछ घंटे बाद ही कार्रवाई करके चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है।

वाराणसी में फ्लाईओवर बनाने वाली कंपनी के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर एच सी तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर केआर सूदन, असिस्टेंट इंजीनियर राजेश सिंह और इंजीनियर लाल चंद को सस्पेंड कर दिया गया है।

देखिए वीडियो :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here