यह लड़ाई अब उत्तराखंड के सम्मान की बन चुकी है: हरीश रावत

0
>

कोर्ट के फैसले के बाद उत्तराखंड से राष्ट्रपति शासन हटाए जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रेस से बात करते हुए कहा कि जो भी कोर्ट का आदेश है हम उसका पालन करेंगे। यह लड़ाई अब उत्तराखंड के सम्मान की बन चुकी है, जहां हम सबसे बड़ी पार्टी हैं। 34 विधायक हमारे साथ हैं।

Also Read:  रवीश कुमार ने ‘गोदी मीडिया’ पर फिर निकाली भड़ास, कहा- 'गोदी में खेलती हैं इसकी हज़ारों मीडिया'

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम हरीश रावत की राष्ट्रपति शासन को चुनौती देने वाली याचिका को स्वीकार कर लिया था। इसके बाद राष्ट्रपति शासन को हटा दिया। रावत ने कहा कि मैं केंद्र से अब भी राज्य के साथ सहयोग की अपील करता हूं। इसके साथ ही मैं कड़वी यादों को भूलकर आगे बढ़ना चाहता हूं। अपने सहयोगियों और केंद्र से आगे बढ़कर काम करने की बात कहना चाहता हूं।

Also Read:  बिहार टॉपर्स स्कैमः फोरेंसिक जांच का निष्कर्ष, रूबी राय की कॉपी में एक्सपर्ट ने लिखे थे उत्तर

हरीश रावत ने यहां मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वो चौड़े सीने वाले लोग, हम सिर झुकाकर काम करने वाले लोग हैं। केंद्र ने 4 बड़े घाव उत्तराखंड को दिए हैं। उस पर हाई कोर्ट ने उस पर मरहम लगाया है।
राष्ट्रपति शासन हटने पर अब कांग्रेस को 29 अप्रैल को बहुमत साबित करना होगा।

Also Read:  केरल BJP अध्यक्ष पर RSS कार्यकर्ता की हत्या को लेकर झूठ फैलाने का आरोप, केस दर्ज

विधानसभा की वर्तमान स्थिति इस प्रकार है।
कुल सीटें- 71
कांग्रेस- 36 (9 बागी विधायकों को मिलाकर)
बीजेपी- 27
उत्तराखंड क्रांति दल- 1
निर्दलीय- 3
बीएसपी- 2
बीजेपी निष्कासित- 1
मनोनीत- 1

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here