उत्तराखंड विश्वासमत में हरीश रावत की जीत के बाद, मोदी सरकार राष्ट्रपति शासन हटाने पर मजबूर

0

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बुधवार को उत्तराखंड में जारी राष्ट्रपति शासन को हटाने की घोषणा की।

इस से पहले सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड में फ्लोर टेस्ट के नतीजे का ऐलान कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक हरीश रावत के पक्ष में 33 विधायक थे और बीजेपी के पक्ष में 28 विधायकों ने अपना मत दिया। कोर्ट में केंद्र सरकार ने कहा कि उत्तराखंड से राष्ट्रपति शासन हटाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राष्ट्रपति शासन हटने के बाद हरीश रावत बतौर मुख्यमंत्री काम कर सकते हैं।

Also Read:  पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

उत्तराखंड पर सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि लोकतंत्र की जीत हुई है। उम्मीद करता हूं कि उन्हें सबक मिल गया होगा। वही सुप्रीम कोर्ट के आदेश बाद देहरादून में कांग्रेस कार्यालय पर जश्न का माहौल है। बताया जा रहा है कि हरीश रावत कुछ देर बाद मीडिया को संबोधित करेंगे। दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ सूत्र बता रहे हैं कि अब राज्य में सरकार गठन के समय पार्टी साफ-सुथरी छवि वाले नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल करेगी। हरीश रावत दोबारा मुख्यमंत्री बन जाएंगे लेकिन शायद उनकी परेशानियां समाप्त नहीं होने जा रही हैं। स्टिंग मामले में सीबीआई उनसे बार-बार पूछताछ कर सकती है। ऐसे में कयास लग रहे हैं कि मुख्यमंत्री पद पर किसी और को बिठाया जा सकता है।

Also Read:  भरष्टाचार और दावूद इब्राहिम के साथ कथित सबंध के आरोपों में घिरे भाजपा मंत्री एकनाथ खड़से का इस्तीफा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here