जेएनयू का बंधक संकट खत्म, 24 घंटे बाद बाहर निकले वीसी

0

जेएनयू में बंधक संकट खत्म हो गया है। छात्र नजीब के गायब होने से गुस्साए छात्रों ने वाइस चांसलर जगदीश कुमार और दूसरे अधिकारियों को करीब 24 घंटे तक बंधक बनाए रखने के बाद छोड़ दिया है। सभी अधिकारी और वीसी प्रशासनिक भवन से बाहर आ गए हैं।

उधर जेएनयू वीसी जगदीश कुमार के बाहर निकलते ही छात्र संघ अध्यक्ष मोहित पांडे को छात्रों ने घेर लिया। इन छात्रों का कहना था कि  वीसी और अधिकारियों को क्यों निकल जाने दिया गया। मोहित पांडे के खिलाफ वीसी की दलाली बंद करो जैसे नारे भी लगाए गए।

Also Read:  सैफ अली खान के खुले खत के जवाब में कंगना रनौत ने दिया यह जवाब

jnu-protests_650x400_61476902598

इन छात्रों का कहना था कि आरोपियों को सस्पेंड नहीं किया गया तो कल होम मिनिस्टर का आवास घेरा जाएगा। हम बता देंगे कि हम वीसी को भी नहीं छोड़ेंगे और होम मिनिस्टर को भी नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने वीसी पर आरोप लगाया है कि वो अपने आकाओं के कहने पर काम कर रहे हैं।

Also Read:  निवेशकों को धोखा देने के आरोप में यूनिटेक के MD संजय चंद्रा गिरफ्तार, दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जेएनयू से लापता हुए छात्र नजीब अहमद की सकुशल रिहाई के सिलसिले में आज फिर दिल्ली पुलिस के कमिश्नर आलोक कुमार से बात की है।

सिंह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से मामले की जांच के लिए स्पेशल टीम बनाने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले भी इस मामले को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर से बात की थी और मामले पर पूरा ब्रीफ लिया था। दिल्ली पुलिस ने नजीब अहमद का सुराग देनेवाले को 50 हजार रुपये ईनाम देने की घोषणा की है। पुलिस ने इसके लिए कई जगहों पर इश्तेहार भी चिपकाया है।

Also Read:  अमरनाथ यात्रियों की जान बचाने वाले ड्राइवर सलीम को सोनू निगम ने दिया 5 लाख का इनाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here