VIDEO: योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के बिगड़े बोल, कहा- हवस मिटाने के लिए तीन तलाक देते है मुस्लिम

0

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता संभालते ही अपने मंत्रियों को विवादित बयान देने से बचने को कहा कहा था। लेकिन ऐसा लग रहा है कि उनके कुछ मंत्रियों तक उनका संदेश अभी तक पहुंच नहीं पाया है। क्योंकि हाल ही में यूपी के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने एक दिव्यांग की सरेआम बेइज्जत करते हुए उसे लूला लंगड़ा कह दिया था। वहीं अब मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

स्वामी प्रसाद मौर्य
photo- ANI

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बस्ती में एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे स्वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक को लेकर कहा कि मुस्लिम 3 तलाक देकर अपनी हवस को पूरा करने के लिए लगातार बीवियां बदलने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि, ‘मुस्लिम अकारण, बेवजह और मनमाने तरीके से जब चाहे बिना किसी वजह के अपनी पत्नियों को तलाक दे देते हैं।

Video: योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के बिगड़े बोल, कहा- हवस मिटाने के लिए तीन तलाक देते है मुस्लिम

Nai-post ni जनता का रिपोर्टर noong Biyernes, Abril 28, 2017

तलाक देकर वह अपनी हवस को पूरा करने का काम कर रहे हैं। तलाक की वजह से उनकी पत्नी और बच्चों को सड़क पर भीख मांगने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।’ साथ ही मौर्य ने कहा कि, महिलाओं के अधिकार और उन्हें न्याय दिलाने के लिए बीजेपी हमेशा पीड़ित मुस्लिम महिलाओं के साथ खड़ी है। हम किसी भी हाल में उनके साथ गलत नहीं होने देंगे।

Also Read:  यूपी: 17.5 लाख रुपए की सरकारी मदद को ठुकरा कर गांव वालों ने अपने पैसों से बनाए शौचालय

मौर्य ने बीएसपी मुखिया मायावती पर निशाना साधते हुए कहा, ‘जब मैंने पार्टी छोड़ी तो मायावती ने कहा था कि जो बीएसपी छोड़ेगा उसकी राजनीति खत्म हो जाएगी, लेकिन राजनीति उनकी खत्म हुई जो मायावती के बंधुआ मजदूर बन कर रह रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि वह संघर्षों से निकले नेता हैं और मायावती की राजनीति खत्म करके ही दम लेंगे।

Also Read:  आजम खान का PM मोदी पर निशाना, कहा- कब्रिस्तान और श्मशान के मुर्दों का हिसाब मांग रहे हैं प्रधानमंत्री

बता दें कि, स्वामी प्रसाद मौर्य उत्तर प्रदेश में बड़े और पिछड़े वर्ग के कद्दावर नेता माने जाते हैं। इससे पहले वह बीएसपी में थे और विधानमंडल दल में विपक्ष के नेता थे। लेकिन यूपी विधानसभा चुनाव के 6 महीने पहले उन्होंने मायावती पार्टी छोड़ बीजेपी की सदस्यता ले ली थी, बीजेपी की सरकार बनने के बाद उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया और श्रम मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई।

Also Read:  योगी राज में छेड़छाड़ से परेशान होकर छात्रा ने न्याय की गुहार के लिए PM मोदी को लिखा पत्र

बता दें कि, बुधवार (19 अप्रैल) को योगी सरकार में खादी और ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी खादी ग्रामद्योग बोर्ड के ऑफिस का मुआयना करने पहुंचे थे। वहां पर उन्होेंने एक दिव्यांग की सरेआम बेइज्जत करते हुए उसे लूला लंगड़ा तक कह दिया। जो कि वहां पर सफाई कर्मचारी का काम करता था।

Video: योगी के मंत्री ने सरेआम दिव्यांग का किया अपमान, अधिकारियों से बोले- लूले लंगड़ों को संविदा पर रखा है?http://www.jantakareporter.com/hindi/satyadev-pachauri-insults-divyang-worker/117639/

Nai-post ni जनता का रिपोर्टर noong Miyerkules, Abril 19, 2017

योगी सरकार ने 17 अप्रैल को ही दिव्यांगों को सम्मान दिलाने के लिए विकलांग विभाग का नाम बदलकर दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग रखा, लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि उन्हीं के मंत्री दिव्यांगों को सरेआम अपमानित कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here