पुजारी ने दलित बच्ची को पानी पीने से रोका, पिता पर त्रिशूल से किया हमला

0

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील के बावजूद देश में दलितों पर हो रहे अत्याचार कम होने बजाए बढ़ते ही जा रहे हैं।

एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के संभल जिले से आया है। यहां एक पुजारी ने मासूम बच्ची को मंदिर में लगे पंप से पानी पीने से रोका दिया। पानी पीने से रोकने की वजह थी बच्ची का दलित समुदाय से ताल्लुक रखना। इस मामले में पुजारी के खिलाफ शिकायत दर्ज हो गई है।

Photo: ANI
Photo: ANI

संभल के गुनौर क्षेत्र में एक पुजारी ने 13 साल की बच्ची को मंदिर पर लगे हैंडपंप पर पानी पीने से सिर्फ इसलिए रोक दिया क्योंकि वह दलित समुदाय से हैं। पुजारी यहीं नहीं रुका, उसने बच्ची के पिता पर त्रिशूल से हमला भी किया। इस मामले को लेकर पीड़ित परिवार की ओर से प्रदर्शऩ करने के बाद पुलिस ने आरोपी पुजारी के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट में मामला दर्ज कराया है। आरोपी पुजारी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Also Read:  विपक्ष की और से महात्मा गांधी के पोते गोपाल गांधी बन सकते है राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

गौरतलब हैं कि, हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दलित पर अत्याचार न करने की अपील करते हुए कहा था “मेरे दलित भाईयों पर अत्याचार न करो, अगर करना है तो मेरे ऊपर करो, गोली मारनी है तो मेरे दलित भाईयों पर नहीं।”

Also Read:  RSS समर्थक पत्रिका ने करण जौहर पर लगाया 'सुविधानुसार देशभक्त' होने का आरोप

आपको बता दें कि दलितों के साथ अत्याचार का एक मामला आज गुजरात में भी सामने आया है। वहां दलितों के 27 परिवारों को उन्हीं के गांव से निकाल दिया गया। ये सभी परिवार अब अपने गांव से 15 किलोमीटर दूर शरणार्थियों की तरह रहने पर मजबूर हैं। यह मामला गुजरात बंसकअनथा जिले का है। ये सभी लोग दो साल पहले तक जिले के घदा नाम के गांव में रहते थे लेकिन अब ये 15 किलोमीटर दूर सोदापुर में रहने को मजबूर हैं। यहां इन लोगों के पास करने को कोई खास काम नहीं है और साथ ही साथ इनके बच्चों की पढ़ाई भी छूट गई है।

Also Read:  दलितों पर अत्याचार की घटनाओं से मेरा सिर शर्म से झुक जाता है : मोदी

(With inputs from Jansatta)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here