अंकित सक्सेना के परिवार द्वारा इफ्तार पार्टी देने पर सिपाही ने किया आपत्तिजनक ट्वीट, यूपी पुलिस ने किया सस्पेंड

0

उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपने एक कांस्टेबल को सिर्फ इसलिए निलंबित कर दिया है, क्योंकि उसने सोशल मीडिया पर एक समुदाय के खिलाफ कमेंट्स किया था।

जिसकी शिकायत एक शख्स ने ट्विटर पर उसके कमेंट्स का स्क्रीन शॉट लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ, यूपी पुलिस, डीजीपी को ट्वीट कर दिया। इस ट्वीट का रिप्लाई करते हुए यूपी पुलिस ने कानपुर पुलिस को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर बाबू पुरवा सीओ को जांच के आदेश दिए है।

गौरतलब है कि, दिल्ली में रहने वाले अंकित सक्सेना की कुछ दिनों पहले प्रेम-प्रसंग के चलते हत्या कर दी गई थी। अंकित की हत्या प्रेमिका के रिश्तेदारों ने की थी, अंकित का दूसरे समुदाय की लड़की से अफेयर था। लेकिन अब भाईचारे का संदेश पेश करते हुए अंकित के पिता ने रविवार(3 जून) को इफ्तार का आयोजन किया। लेकिन, यूपी पुलिस के एक कांस्टेबल को ये रास नहीं आया और उसने ट्विटर पर धर्म विशेष पर अभद्र कमेंट किए कर दिए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कानपुर की पुरवा कोतवाली में तैनात कांस्टेबल अरविन्द सिंह परिहार ने इस संबंध पर एक समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट किया। अरविन्द सिंह परिहार ने एक ख़बर पर कमेंट्स करते हुए लिखा, ‘इस्लाम धर्म मुबारक हो हरामखोर’।

अरविन्द सिंह परिहार के कमेंट्स पर शहीद अंसारी नाम के शख्स ने रिप्लाई किया तो उनको भी अरविन्द ने गालियां दीं। इस बात से नाराज शहीद ने अरविंद के कमेंट्स का स्क्रीन शॉट लेकर सीएम योगी, डीजीपी, यूपी पुलिस को ट्वीट किया। जिस पर कानपुर पुलिस ने तत्काल प्रभाव से अरविंद सिंह को निलंबित कर दिया और कानपुर पुलिस को जांच के आदेश दिए।

बता दें कि, यूपी पुलिस की इस कार्रवाई की सोशल मीडिया पर लोग जमकर तारीफ कर रहें है। यूपी पुलिस की तारीफ करते हुए समीर अब्बास ने लिखा, ‘मोहब्बत का पैग़ाम देते हुए इस बार अपने घर में इफ़्तार आयोजन करने वाले अंकित सक्सेना के नेकदिल पिता को गाली देने वाले सिपाही अरविंद सिंह को सस्पेंड कर यूपी पुलिस और योगी आदित्यनाथ की सरकार ने शानदार काम किया है। नफ़रत के ऐसे सौदागरों पर लानत भेजता है हिंदुस्तान। जय हिंद।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here