उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा एक चैनल के पत्रकार की पुलिस परिसर में पिटाई

0

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में पुलिस द्वारा एक प्रमुख समाचार चैनल के संवाददाता को एक विवाद में पक्षपातपूर्ण कार्रवाई करते हुए कोतवाली परिसर में बर्बरतापूर्ण तरीके से पीटे जाने का मामला सामने आया है।

पीटीआई भाषा की एक खबर के अनुसार, उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए इसे मुख्यमंत्री तक ले जाने की बात कही है।

पुलिस अधीक्षक अब्दुल हमीद के मुताबिक बंकी क्षेत्र के रहने वाले ‘एबीपी न्यूज’ के जिला संवाददाता सतीश कश्यप ने शिकायत की है कि एक नाली के विवाद को लेकर कल पुलिस ने उन्हें कोतवाली बुलाकर उन पर समझौते का दबाव बनाया और विरोध करने पर उनके साथ मारपीट की और हवालात में बंद कर दिया।

Also Read:  स्वाति मालीवाल की PM मोदी से मांग, बलात्कारियों को छह महीने के भीतर मिले मौत की सजा, लिखा मार्मिक पत्र

UP-Police_jobs

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

Congress advt 2

इस बीच, कश्यप ने कहा कि उनका अपने पड़ोसी अतुल यादव से टैंक बनवाने को लेकर करीब एक साल से विवाद था। इसी की रंजिश को लेकर वह अक्सर उन्हें जान से मारने की धमकी देता था और घर से बाहर निकलने पर उनकी पत्नी पर अक्सर फब्तियां कसता था।

Also Read:  चैंपियंस ट्रॉफी: भारत की हार पर पाक समर्थन नारे लगाने वालों पर से हटाया गया 'देशद्रोह' का केस

कश्यप ने बताया कि उन्होंने पिछली 19 जून को शहर कोतवाली में इसकी शिकायत की थी। उसके अगले दिन पुलिस अधीक्षक और 21 जून को तहसील में भी शिकायत दी गयी थी। उसी दिन पुलिस यादव को पकड़कर कोतवाली लायी थी। अगले दिन उन्हें कोतवाली बुलाया गया और बंकी पुलिस चौकी प्रभारी शिवनाथ यादव और शहर कोतवाल बी. पी. यादव द्वारा समझौते का दबाव बनाने की कोशिश की गयी।

Also Read:  बाराबंकी में ऑनर किलिंग की दिल दहलाने वाली वारदात, धारदार हथियार से काटकर युवक की हत्या

उन्होंने बताया कि इसका विरोध करने पर कोतवाल और अन्य पुलिसकर्मियों ने उनसे गालीगलौज की और मारपीट शुरू कर दी। साथ ही फर्जी मुकदमे दर्ज कर हवालात में डाल दिया। सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में कोतवाली पहुंचे पत्रकारों ने उन्हें छुड़ाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here