बेटे की हत्या के आरोप में यूपी विधान परिषद के अध्यक्ष की पत्नी गिरफ्तार, आरोपी मां ने कहा- मैंने ही गला घोटकर मार डाला

0

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत यादव की संदिग्ध मौत मामले में राज्य पुलिस ने मां गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक मां ने बेटे की हत्या की बात स्वीकार कर ली है। पुलिस ने जब आरोपी मां मीरा और उनके बड़े बेटे अभिषेक को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो इसका खुलासा हुआ। मां ने कहा कि अभिजीत नशा करके अक्सर घर में आता था। उस दिन भी रात में आया, जिस पर कहासुनी होने के दौरान यह घटना हो गई। आपको बता दें कि यह घटना रविवार (21 अक्टूबर) की है।

फोटो: अमर उजाला

अभिजीत यादव की हत्या मामले में एसपी (पूर्व) सर्वेश मिश्रा ने बताया कि मृतक की मां ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया है और आगे की जांच जारी है। मिश्रा का कहना है, जब पुलिस उनके घर पहुंची तो परिवार ने कहा कि यह सामान्य मौत है इसलिए उन्हें कोई जांच नहीं करानी। लेकिन शक के आधार पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा तब पता चला कि हत्या हुई है।

समाचार एजेंसी यूनिवार्ता के मुताबिक लखनऊ की पुलिस ने सोमवार (22 अक्टूबर) अपने पुत्र की हत्या के आरोप में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के अध्यक्ष रमेश यादव की दूसरी पत्नी मीरा यादव को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि उत्तर प्रदेश विधान परिषद के अध्यक्ष के पुत्र अभिजीत (22) की गत शनिवार रात दारूलशफा स्थित एक फ्लैट में गला दबाकर हत्या कर दी थी। रविवार सुबह उसकी मौत को सीने में दर्द के चलते होना बताकर अंतिम संस्कार करने की कोशिश की थी।

पुलिस ने शवयात्रा को रोककर पाेस्टमार्टम करवाया। उन्होने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अभिजीत की गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई। उसके सिर में भी चोट के निशान थे। इसी को आधार बनाकर पुलिस ने मां मीरा और भाई अभिषेक से पूछताछ शुरू कर दी। देर रात मीरा ने हत्या की बात स्वीकार कर ली। पुलिस ने सोमवार को पुष्टि की है कि मीरा यादव ने जांच टीम को बताया कि उसका और मृतक अभिजीत के बीच झगड़ा हुआ था जो उसकी मौत का कारण बना। रविवार की देर रात उसे गिरफ्तार कर लिया।

इस बीच वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले की जांच चल रही है। डाक्टरों की टीम ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट उसकी मौत गला दबाकर होना बताया है। रिपोर्ट में कहा है मृतक के सिर में भी चोट के निशान थे। आरोपी मां ने बताया कि अभिजीन नशे का आदी था और उसके साथ दुर्व्यहार करता था। शव का अन्तिम संस्कार रविवार शाम को कड़ी सुरक्षा के बीच कर दिया गया। संपत्ति विवाद केे कारण सभापति का दूसरी पत्नी के साथ संबंध अच्छे नही थे। लेकिन सभापति अन्तिम संस्कार के दौरान मौजूद थे।

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के छोटे बेटे अभिजीत उर्फ विवेक की रविवार को सरकारी आवास में गला घोंटकर हत्या कर दी गई। विवेक का शव दारुल शफा के डी ब्लॉक स्थित कमरा नंबर 28 में पाया गया। कमरे में मां और भाई भी मौजूद थे। अभिषेक के परिवार वाले इस स्वाभाविक मौत मानकर अंतिम संस्कार की तैयारी के लिए जा रहे थे। लेकिन पुलिस को पूरे मामले में शक हुआ और उन्होंने शव के पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या की पुष्टि हुई थी।

विधान परिषद के सभापति रमेश यादव ने दो शादियां की हैं। पहली पत्नी प्रेमा देवी है जो एटा जिले में रहती हैं। उनका बेटा आशीष यादव पूर्व में एटा सदर से विधायक भी रह चुका है। दूसरी पत्नी मीरा यादव हैं जो राजधानी के दारुल शफा स्थित बी ब्लाक के कमरा नंबर 137 में अपने दो बेटों अभिषेक यादव उर्फ लक्की व छोटे बेटे विवेक यादव उर्फ अभिजीत यादव उर्फ विक्की रहती हैं।

रविवार सुबह विवेक उर्फ अभिजीत अपने बिस्तर पर मृत अवस्था में पड़ा मिला। परिजनों का कहना है कि विवेक शनिवार रात करीब 11 बजे घर आया था। तब उसने सीने में दर्द की जानकारी मां को दी थी। मां ने सीने में मालिश कर उसे सुला दिया था। सुबह जब काफी देर तक अभिजीत नहीं उठा तो मां उसे उठाने पहुंची। शरीर में कोई हरकत न होती देख भाई को भी बुलाया। भाई ने विवेक की नब्ज जांची तो पता चला उसकी मौत हो चुकी थी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौत को संदिग्ध बताया है, लेकिन परिवार की ओर से कोई शिकायत दर्ज न कराने पर शव को परिवार के हवाले कर दिया। इंस्पेक्टर हजरतगंज राधारमण सिंह ने बताया कि विवेक दारुल शिफा के बी ब्लॉक के कमरा नंबर 137 में रहता था। शनिवार रात खाना खाने के बाद वह मां और भाई के साथ कमरे में सोया था। अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद उसकी मौत हो गई।

मगर बाद में पुलिस के आला अफसरों की दखल के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया तो गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई। एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा ने बताया कि मां बेटे अभिजीत की नशे की आदत से परेशान थीं। शनिवार रात को भी वह नशे की हालत में घर पहुंचा था। इसी को लेकर दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। जिसके बाद मां ने बेटे की गला घोंटकर हत्या कर दी। पहले तो परिवार ने स्वाभाविक मौत की बात कही थी। लेकिन पोस्टमार्टम में हत्या की पुष्टि होने के बाद मां ने पूछताछ के दौरान अपराध स्वीकार कर लिया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here