कासगंज में हिंसा पर योगी सरकार के एक और मंत्री ने कहा- ‘ऐसी छोटी-मोटी घटनाएं होती रहती हैं’

0

उत्तर प्रदेश के कासगंज में गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के दिन तिरंगा यात्रा के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा पूरे देश को झकझोर कर रख दिया। लेकिन योगी सरकार के मंत्रियों के लिए यह एक मामूली घटना थी। जी हां, योगी सरकार के एक और मंत्री ने इस हिंसा को छोटी-मोटी घटना करार दिया है।

(ANI Twitter File Photo)

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, योगी सरकार के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने शनिवार (3 फरवरी) को एक विवादित बयान दिया कि कासगंज में हुई हिंसा ‘छोटी-मोटी घटना थी।’ गणतंत्र दिवस के अवसर पर कासगंज में हुई हिंसा के बारे में पूछे जाने पर पचौरी ने पत्रकारों से कहा कि, ‘ऐसी छोटी-मोटी घटनाएं अक्सर होती रहती हैं, हर जगह होती हैं। ज्यादा ध्यान देने की जरूरत नहीं है।’

बता दें कि कासगंज में गणतंत्र दिवस मनाने के लिए निकाली गई एक मोटरसाइकिल रैली पर एक भीड़ की ओर से किए गए हमले में चंदन गुप्ता नाम के एक शख्स की मौत हो गई थी। चंदन की मौत के बाद इलाके में हिंसा फैल गई थी जिसमें कम से कम तीन दुकानें, दो बसें और एक कार को आग के हवाले कर दिया गया था।

खादी, ग्रामोद्योग एवं कपड़ा विभाग के मंत्री पचौरी ने इस घटना के लिए जिले के अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि, ‘अधिकारियों को मामला बढ़ने से पहले ही कानून तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए थे।’

आपको बता दें, इससे पहले योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी ऐसा ही बयान दिया था। कृषि मंत्री शाही ने कहा था कि, ‘किसी मामले को अनावश्यक तूल देना सही नहीं है। एक छोटी घटना हुई जिसमें दो लोगों के साथ हादसा हुआ है।’ उन्होंने अपील की थी कि इस मामले की कश्मीर से तुलना करके प्रदेश का माहौल न खराब किया जाए।

कृषि मंत्री ने कासगंज घटना पर कहा, ‘…गलत है और किसी मामले को अनावश्यक तूल देना भी सही नहीं है। एक छोटी घटना हुई जिसमें दो लोगों के साथ हादसा हुआ है। सरकार उसके बारे में गंभीर है और कार्रवाई कर रही है। कश्मीर से तुलना कर प्रदेश का माहौल खराब न किया जाए।’

आपको बता दें कि 26 जनवरी के मौके पर हुई हिंसा में चंदन गुप्ता को गोली लगने से मौत हो गई थी। यूपी सरकार ने पूरे मामले की जांच को एसआईटी को सौंप दिया है। वहीं, चंदन की हत्या के मामले में यूपी पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। शनिवार को पुलिस ने राहत कुरैशी नाम के एक और आरोपी का गिरफ्तार किया है।

पकड़ा गया शख्स कासगंज के इस्माइलपुर रोड का रहने वाला है। इस मामले के मुख्य आरोपी सलीम को बुधवार को गिरफ्तार किया गया था। गृह मंत्रालय ने पिछले दिनों कासगंज हिंसा में योगी सरकार से जांच रिपोर्ट मांगी थी। पुलिस का दावा है कि तनावपूर्ण हालात अब धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here