CM योगी आदित्यनाथ को बड़ा झटका, 19 साल पुराने हत्या के मामले में कोर्ट ने जारी किया नोटिस

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बड़ा झटका लगा है। एक जिला अदालत ने करीब 19 साल पुराने हत्या के एक मामले में सीएम योगी को कानूनी नोटिस भेजा है। सीएम योगी के खिलाफ महाराजगंज जिला सत्र न्यायालय ने 19 साल पुराने हत्या के मामले में नोटिस जारी किया है। साथ ही एक सप्ताह के अंदर जवाब भी दाखिल करने को कहा गया है। इस मामले में अगली सुनवाई 27 अक्टूबर को होनी है।

योगी आदित्यनाथ
फाइल फोटो- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

रिपोर्ट के मुताबिक, हत्या का यह मामला फरवरी 1999 का है और गोरखपुर में समाजवादी पार्टी के एक नेता के सुरक्षा अधिकारी की हत्या से जुड़ा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केस से जुड़ी डायरी के हवाले से बताया कि पूर्व सपा नेता तलत अजिया के निजी सुरक्षा अधिकारी प्रकाश यादव की महाराजगंज में प्रदर्शन के दौरान हत्या कर दी गई थी।

इस मामले में आरोप लगा कि सपा नेता के जेल भरो आंदोलन के दौरान योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में एक ग्रुप ने कथित तौर पर हवाई फायर किया था। तलत अजीज ने इस मामले में योगी आदित्यनाथ व अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। अजीज ने आरोप लगाया था कि उन्हें मारने की नीयत से गोली चलाई गई थी। जिसके बाद तत्कालीन कल्याण सिंह सरकार ने सीबीसीआईडी से जांच कराई।

हालांकि, जांच में सबूतों के अभाव के चलते सत्र न्यायालय ने केस को बंद कर दिया। लेकिन हाल में ही तलत अजीज ने हाई कोर्ट में रिव्यू पेटिशन दाखिल की। इस पर हाई कोर्ट ने महाराजगंज जिला सत्र न्यायालय से दोबारा ट्रायल शुरू करने का आदेश दिया। इसी आदेश पर न्यायालय ने सीएम योगी को नोटिस जारी करते हुए जवाब दाखिल करने को कहा है। यह घटना 10 फरवरी, 1999 की है।

रिपोर्ट के मुताबिक महाराजगंज के कोतवाली में पंचरुखिया क्षेत्र में एक जमीन पर कब्रिस्तान और ताल को लेकर विवाद हुआ था। इस विवाद में सपा नेता तलत अजीज और नवनिर्वाचित सांसद योगी आदित्यनाथ दो अलग-अलग पक्षों से आमने-सामने थे। इसी विवाद में दोनों पक्षों की भिड़ंत हुई, जिसमें गोली चली और तलत अजीज के सुरक्षा अधिकारी की मौत हो गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here