उन्नाव गैंगरेप केस: CBI जांच की मांग पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को तैयार, इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से मांगी रिपोर्ट, BJP विधायक के बचाव में आईं पत्नी, पीड़िता ने मांगा न्याय

0

उत्तर प्रदेश की बांगरमऊ विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप का आरोप लगने के बाद सूबे में सियासी हड़कंप मचा हुआ है। इस बीच अब यह केस इलाहाबाद हाई कोर्ट से लेकर देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट तक में पहुंच गया है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस मामले पर यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार से रिपोर्ट मांगी है, जबकि शीर्ष अदालत ने सीबीआई जांच और पीड़िता के परिवार को मुआवजे की मांग वाली याचिका को स्वीकार कर लिया है।

(PTI Photo)

मामले की सुनवाई के लिए बुधवार (11 अप्रैल) को सुप्रीम कोर्ट ने सहमति जाहिर कर दी। मामले में सीबीआई जांच और पीड़िता को मुआवजे की मांग याचिका पर कोर्ट अगले सप्‍ताह सुनवाई करेगा। बता दें कि वकील एमएल शर्मा ने इस मामले में याचिका दाखिल की है। याचिका में रेप पीड़िता और उसके परिवार को सुरक्षा और मुआवजा देने की मांग की गई है, साथ ही पुलिस और विधायक के खिलाफ जांच की मांग की गई है।

वहीं, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले का स्वतः संज्ञान लेते हुए कल तक मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी है। इस मामले की सुनवाई कल होगी। अदालत ने कहा है कि सरकार मामले से जुड़ी पूरी रिपोर्ट कल पेश करे। इस बीच उन्नाव गैंगरेप मामले में सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हो रही है। आज सुबह से ट्विटर पर #BhajpaSeBetiBachao और #बेटी_बचाओ_बीजेपी_भगाओ ट्रेंड कर रहा है। इस हैशटैग के जरिए हजारों की संख्या में यूजर्स योगी सरकार और बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं।

BJP विधायक के बचाव में आईं पत्नी

इस बीच आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप और हत्या के आरोप लगने के बाद पहली बार उनकी पत्नी की प्रतिक्रिया सामने आई है। कुलदीप की पत्नी संगीता सेंगर ने बुधवार को सुबह पति की ओर से पक्ष रखने के लिए डीजीपी आवास पहुंचीं और उनसे मुलाकात की। मीडिया के सामने आने के बाद बीजेपी विधायक की पत्नी ने रोकर कहा कि मेरे पति निर्दोष हैं और उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। षड़यंत्र रचकर उनकी छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है। पत्नी ने अपने पति और रेप का आरोप लगाने वाली युवती का नार्को टेस्ट तक कराने कहा है।

विधायक की पत्नी ने आरोप लगाया कि उनकी बेटियों को परेशान किया जा रहा है। परिवार को भी मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि अभी कोई सबूत भी सामने नहीं आया लेकिन फिर भी उनके पति को बलात्कारी कहा जा रहा है।डीजीपी आवास के बाहर संगीता सेंगर ने रोते हुए कहा कि, ‘हम चाहते हैं कि आप हमारे पति और पीड़िता का नारको टेस्ट करा लीजिए। मेरी बेटियां बेहद परेशान हैं। अब तक कोई सबूत नहीं पेश किया गया है, लेकिन उन्हें रेपिस्ट बताया जा रहा है। हमारा उत्पीड़न किया जा रहा है।’

पीड़िता ने मांगा न्याय

दूसरी तरफ गैंगरेप पीड़िता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील की है कि वे मुझे न्याय दिलाएं। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि जिलाधिकारी ने उसे एक कमरे तक सीमित कर दिया है। पीने के पानी के लिए उसे तड़पाया जाता है। जहां देखो, वहां सुरक्षाकर्मी नजर आते हैं। पीड़िता ने भावुक अपील कहते हुए कहा कि, ‘मैं सीएम योगी आदित्यनाथ से न्याय दिलाने की मांग करती हूं। मुझे डीएम ने एक होटल के कमरे में बंद कर दिया था और पानी तक नहीं दिया गया। मैं सिर्फ यह चाहती हूं कि मामले में दोषियों को सजा दी जाए।’ बता दें कि पीड़िता ने उन्नाव के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर बलात्कार करने का आरोप लगाया है।

पीड़िता के पिता ने तोड़ा दम, विधायक का भाई गिरफ्तार

बता दें कि बीजेपी विधायक कुल्दीप सिंह सेंगर पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता के पिता की सोमवार (9 अप्रैल) सुबह मौत हो गई थी। पुलिस के मुताबिक उसके पेट में दर्द उठा था, जिसके बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पीड़िता के पिता से मारपीट के मामले में पुलिस ने मंगलवार (10 अप्रैल) को विधायक के भाई अतुल सिंह सेंगर पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दायर करते हुए गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

विधायक के भाई पर आरोप यह है कि उसने पीड़िता के पिता को बुरी तरह पीटा था जिसकी वजह से उनकी जेल में मौत हो गई थी। पीड़िता के मुताबिक विधायक का भाई उनके पिता पर केस वापस लेने का दबाव बना रहा था। उसे उन्नाव के माखी थाने में दर्ज मुकदमे में गिरफ्तार किया गया और शाम को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया। अतुल सिंह के चार साथियों को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं, इस मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है।

पीड़िता के पिता की बेरहमी से हुई थी पिटाई

वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, रेप पीड़िता के पिता की मौत का कारण पिटाई के दौरान बड़ी आंत फटना बताया गया है। विशेषज्ञों का कहना है कि चोटों से प्रतीत होता है कि पिटाई किसी भोथरी वस्तु जैसे मोटे डंडे या फिर बंदूक के कुंदे आदि से की गई जिससे गहरी अंदरूनी चोट लगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डॉक्टरों ने लिखा है कि मारपीट में उसकी बड़ी आंत फट गई थी। शरीर पर 14 स्थानों पर गंभीर चोट के निशान पाए गए हैं। ये चोट 6-7 दिन पुराने होने की भी पुष्टि हुई है।

योगी सरकार ने SIT का किया गठन

इस बीच भारी दबाव के बाद उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने केस की जांच के लिए SIT का गठन कर दिया है। इस मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐक्शन लेते हुए एसआईटी को बुधवार तक रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दे दिए हैं। सीएम ने निर्देश दिए कि वह आश्वस्त करें कि स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) बुधवार को उन्नाव दौरे पर जाए और शाम तक अपनी पहली रिपोर्ट सौंपे।

BJP विधायक पर रेप का आरोप

बता दें कि रेप पीड़िता ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके कुछ समर्थकों पर उसके साथ गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। ये मामला उस समय प्रकाश में आया जब पीड़िता ने अपने परिवार के साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश की थी। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस ने महिला और उसके परिवार को ऐसा करने से रोक लिया था। इसके बाद यह मीडिया में सुर्खियां बन गया।

उन्नाव गैंगरेप केस

उन्नाव गैंगरेप केस: रेप पीड़िता के बेसुध पिता से पुलिस ने जबरन कागज पर लिए अंगूठे के निशान! वीडियो वायरलhttp://www.jantakareporter.com/hindi/unnao-gang-rape-case/180075/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Tuesday, April 10, 2018

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here