केंद्रीय मंत्री विजय गोयल से ट्विटर पर बहस के बाद बोले सीएम केजरीवाल- ‘मैं तो बहुत छोटा आदमी हूं, मेरी क्या औकात’

0

आम आदमी पार्टी (आप) ने बीजेपी पर चुनाव आयोग के साथ मिलकर दिल्ली में मतदाता सूची से मतदाताओं के नाम काटने का आरोप लगाया था। वहीं, अब इसी मुद्दे को लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री विजय गोयल और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार (19 दिसंबर) को ट्विटर पर भिड़ गए।

विजय गोयल

दरअसल, बुधवार को सबसे पहले केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने खबर शेयर करते हुए लिखा, ‘अरविंद केजरीवाल सरकार के झूठ का पर्दाफाश। दिल्ली को गुमराह करना बंद करें। मुख्य निर्वाचन अधिकारी की रिपोर्ट- उन्ही के नाम कटे है, जिनकी मौत हो गयी या जिनका स्थानांतरण हो गया है। मतदाता सूची में वोटों का कोई जातिगत आंकड़ा नहीं रखा जाता।

विजय गोयल इस ट्वीट का जवाब देते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘दिल्ली के टोटल सवा करोड़ वोटर में से 3 साल में 30 लाख लोगों का निधन हो गया या स्थानातंरण हो गया? दिल्ली के टोटल 8 लाख बनियों में से 3 साल में 4 लाख का निधन हो गया या स्थानातंरण हो गया? 15 लाख पूर्वांचलियों का 3 साल में निधन हो गया? क्या कह रहे हो विजय जी?’

केजरीवाल के इस जवाब पर पलटवार करते हुए विजय गोयल ने कहा, ‘क्या अरविंद केजरीवाल जी, आप संवैधानिक संस्थाओं व उनकी रिपोर्ट को झूठा साबित करना चाहते हैं? हम तो तथ्यों पर आधारित बात कर रहे हैं।’

केजरीवाल ने फिर इसका जवाब देते हुए कहा, ‘विजय जी, मैं तो बहुत छोटा आदमी हूँ। संवैधानिक संस्थाओं को तो मोदी जी झूठा साबित करते हैं। मेरी क्या औक़ात।’

दोनों के बीच की ट्वीटर जंग यहीं नहीं रुकी। विजय गोयल ने पलटरवार करते हुए कहा, ‘अरविंद केजरीवाल जी, मुद्दे से न भटकायें। दिल्ली वासी इस बात को समझें की मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार इस साल 2 लाख से कम वोट कटे हैं और मतदाता सूची में जातिगत आंकड़े नहीं होते। यह बात इन्हें समझ क्यों नहीं आती? 4 लाख बनियों, 15 लाख पूर्वांचलियों के सूचि की बात क्यों करते हैं?”

केजरीवाल ने फिर इसका जवाब देते हुए कहा, ‘विजय जी, हमने चुनाव आयोग पर दबाव डाल कर ही पूरी लिस्ट निकलवायी है, जिनके नाम कटे हैं। उस लिस्ट के आधार पर ही हम बोल रहे हैं। वो लिस्ट आपके पास तो पहले से ही है, आप लोगों ने ही तो नाम कटवाए हैं। उस लिस्ट में बनियों, पूर्वांचलियों के surname डाल कर गिन लीजिए।’

विजय गोयल ने फिर इसका पलटरवार करते हुए कहा, ‘अरविंद केजरीवाल जी, आपके ऐसे तथाकथित दावों और सबूतों पर आपको पहली भी कई बार माफ़ी मांगनी पड़ी है, और एक बार नहीं कई बार। हम तो चुनाव आयोग द्वारा सार्वजनिक की गई जानकारी को दिल्ली की जनता के साथ साझा कर रहें हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here